सफाईकर्मियों ने पांच घंटे किया प्रदर्शन,वेतन न मिलने से थे नाराज

Sanket Shrivastava

Publish: Jun, 14 2018 11:21:22 AM (IST)

Sagar, Madhya Pradesh, India
सफाईकर्मियों ने पांच घंटे किया प्रदर्शन,वेतन न मिलने से थे नाराज

वेतन न मिलने से थे नाराज वेतन दिलाने का दिया आश्वासन

सागर. बीवीजी कंपनी द्वारा वेतन न दिए जाने के विरोध में बुधवार को बीएमसी के सफाईकर्मी हड़ताल पर रहे। सुबह ८ बजे से दोपहर १ बजे तक बीएमसी में सफाई व्यवस्था ठप रही। इस वजह से वार्डों में मरीज परेशान रहे। जानकारी के अनुसार कंपनी द्वारा इस महीने का वेतन सफाईकर्मियों को नहीं दिया है। पूर्व में भी इसी बात को लेकर सफाईकर्मी हड़ताल पर बैठे चुके हैं। कई सफाईकर्मी एेसे हैं, जिन्हें पिछला वेतन भी नहीं दिया गया है। हड़ताल के दौरान हाइट्स कंपनी के अधिकारी ने कर्मचारियों को समझाने की कोशिश की और काम पर वापस लौटने को कहा, लेकिन सफाईकर्मी तुरंत वेतन की मांग पर अड़े रहे। हालांकि दोपहर १ बजे डीन डॉ. जीएस पटेल सफाईकर्मियों के बीच पहुंचे, जहां उन्हें शाम तक वेतन दिलाने का आश्वासन दिया। इसके बाद कर्मचारी वापस काम पर लौटे।


97 कर्मचारियों का रोका वेतन
कंपनी ने बीएमसी में लगे ९७ कर्मचारियों का वेतन नहीं दिया है। महीने की ७ तारीख को कंपनी द्वारा कर्मचारियों का वेतन दिया जाता था, लेकिन इस बार अभी तक कंपनी ने बिल का भुगतान नहीं किया है। कई कर्मियों की जनवरी, फरवरी और मार्च का वेतन भी बकाया है, जो अभी तक नहीं दिया गया है। सफाईकर्मियों ने शाम को वेतन न मिलने पर दोबारा हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है।

नगरीय निकायों में अनिश्चितकालीन हड़ताल
जिले के नगरीय निकायों में कार्यरत कर्मचारियों ने प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर बड़ा आंदोलन करने का निर्णय लिया है। बुधवार को निगम कार्यालय सभाकक्ष में बैठक हुई, जिसमें सभी सेवाएं ठप करने पर सहमति बनी। कर्मचारी संघ के अध्यक्ष माधव प्रसाद कटारे ने बताया कि २८ अप्रैल २०१८ को नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग ने कर्मचारी संघ की १८ सूत्रीय मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया था लेकिन आज तक इस दिशा में कार्य नहीं हुआ है। यही कारण है कि १८ जून से निगम के कर्मचारी राजघाट से जलापूर्ति, शहर में सफाई कार्य जैसे कार्यों को पूरी तरह से बंद कर देंगे।

Ad Block is Banned