समन्वय बैठक में नहीं आए सागर के दोनों मंत्री

समन्वय बैठक में नहीं आए सागर के दोनों मंत्री
congress

Satish Likhariya | Updated: 13 Sep 2019, 01:25:59 PM (IST) Sagar, Sagar, Madhya Pradesh, India

प्रभारी मंत्री बृजेंद्र सिंह राठौर के सामने कार्यकर्ताओं ने निकाली भड़ास

सागर. सागर. सत्ता और संगठन के समन्वय के लिए बुलाई गई बैठक में सागर जिले के दोनों मंत्री गोविंद सिंह राजपूत और हर्ष यादव ही नहीं पहुंचे। वहीं, गुटबाजी भी खुलकर सामने आई। आलम यह था कि प्रभारी मंत्री बृजेंद्र सिंह राठौर के सामने ही पदाधिकारी एक दूसरे पर भड़कते रहे। हालांकि प्रभारी मंत्री ने मंत्रियों की अनुपस्थिति को कैबिनेट मीटिंग से जोड़कर हल्का करने की कोशिश की। जबकि समन्वय बैठक रात ८ बजे से शुरू हुई और भोपाल में कैबिनेट मीटिंग दोपहर ही हो चुकी थी।
शहर के सिविल लाइन स्थित एक होटल में करीब तीन घंटे तक चली इस बैठक में नेताओं में सबसे अधिक आक्रोश शराब के अवैध कारोबार, जुआ-सट्टा और राशन दुकानों को लेकर नजर आया। एक पदाधिकारी ने कहा कि १५ साल तक विपक्ष में रहकर संघर्ष हमने किया और मलाई दूसरे लोग खा रहे हैं। उन्होंने कहा कि राशन दुकानों पर एक गुट ने कब्जा कर रखा है। आम नागरिकों तक खाद्यान्न ठीक से नहीं पहुंच रहा है। जुआ-सट्टा का मुद्दा उठाते हुए कहा गया कि इस पर एक गुट ने पूरी तरह से कब्जा कर रखा है। शहर से लेकर गांव तक जुएं के फड़ चल रहे हैं। अभी हाल ही में शहर के एक फड़ में कार्रवाई के दौरान कांग्रेस के किसी कार्यकर्ता का नाम आया था। जो ठीक नहीं है, इससे पार्टी की छवि खराब होती है। कुछ पदाधिकारियों ने सागर जिले में तेजी से बढ़ रहे शराब के अवैध कारोबार पर लगाम लगाने की
मांग उठाई।

जिला और शहर संगठन में दूरी
जिला और शहर संगठन के बीच बढ़ती दूरी गुरुवार को बैठक के दौरान भी नजर आई। जब दोनों के ही पदाधिकारी अलग-अलग सुर में बोलते नजर आए। कुछ पदाधिकारियों ने शहर अध्यक्ष रेखा चौधरी पर आरोप लगाया कि वे चीन्ह-चीन्ह कर लोगों की मदद कर रही हैं। आम कार्यकर्ता मुह ताकता रह जाता है। इस पर शहर के कुछ पदाधिकारी विरोध करने लगे।

प्रभारी मंत्री बोले- सरकारी कमेटियों में शामिल होंगे कार्यकर्ता
बैठक में प्रभारी मंत्री ने वादा किया कि अब समन्वय बैठक नियमित रुप से हर दो माह में होगी। क्योंकि जिले से जुड़े अहम मुद्दे रखे जाते हैं, जिनपर समय रहते चर्चा और निर्णय आवश्यक है। उन्होंने कहा कि मोर्चा और संगठन के सक्रिय कांग्रेस सदस्यों को सरकार की कमेटियों में अशासकीय सदस्यों के रूप में मौका दिया जाएगा। रोजगार के अवसरों से जोडऩे के भी प्रयास किए जाएंगे। १५ सालों ने जिन कांग्रेसियों ने धरातल स्तर पर काम किया है, उनके सम्मान का ख्याल रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि अब जो सरकार चलेगी वह जनता और आम कार्यकर्ता के हितों को देखते हुए ही चलेगी। बैठक में जो विषय रखे गए हैं। उन्हें शुक्रवार को प्रशासन के सामने रखकर निराकरण कराया जाएगा।

ये रहे मौजूद: इस अवसर पर जिला कांग्रेस अध्यक्ष हीरा सिंह राजपूत, शहर अध्यक्ष रेखा चौधरी, सुरेंद्र चौधरी, प्रभु सिंह ठाकुर, सुनील जैन, त्रिलोकीनाथ कटारे, डॉ. संदीप सबलोक, संतोष पांडे, नरेश जैन, अखिलेश मोनी केसरवानी, कैलाश सिंघई, अमित रामजी दुबे, प्रभुदयाल बिरथरिया, जितेंद्र सिंह चावला, कमलेश बघेल, कमलेश साहू, प्रमिला राजपूत, सुरेंद्र चौबे, चिंटू कटारे, संजय मोंटी यादव, सुरेंद्र सुहाने सहित अन्य कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned