होम डिलेवरी की सुविधा शुरू, कालाबाजारी कैसे रोकेंगे, किसी भी सामग्री की दरें तय ही नहीं

डिलीवरी करने वाले लोगों के बनाए जा रहे पास, खाद्यान्न, दूध, फल, सब्जी और दैनिक उपयोग की सामग्री बुला सकेंगे फोन पर

 

सागर. कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को दृष्टिगत रखते हुए जिले लॉकडाउन का आदेश जारी कर दिया गया है। लॉकडाउन की अवधि में जन सामान्य को खाद्यान्न, दूध, फल, सब्जी और दैनिक उपयोग की अन्य सामग्रियों के लिए परेशान न होना पड़े इस बात को ध्यान में रखते हुए अब होम डिलीवरी की सुविधा भी शुरू कर दी गई है। इसके लिए जिला प्रशासन ने शहर व उपनगर मकरोनिया के 21 दुकानों को अनुमति दी है। यदि शहर के अन्य दुकानदार भी होम डिलीवरी करना चाहते हैं तो वे सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय में आवेदन कर सकते हैं। होम डिलीवरी करने वाले व्यापारियों को निर्धारित दरों पर सामग्री उपलब्ध कराने और अधिकतम 20 रुपए होम डिलीवरी चार्ज तय किया है। इसके अलावा यह निर्देश भी दिए गए हैं कि होम डिलीवरी के दौरान किसी भी परिस्थिति में ग्राहक के घर में प्रवेश न करें दरवाजे पर ही सामग्री दें। प्रत्येक डिलेवरी के बाद हाथों को सेनेटाइज करें।

इन्हें फोन कर मंगा सकते हैं सामग्री
1- सिविल लाइंस मोबाइल नंबर 9977730468 व 7693017231
2- गोपालगंज मोबाइल नंबर 9329219704
3- भीतर बाजार मोबाइल नंबर 9827087864
4- शास्त्री चौक सदर मोबाइल नंबर 9575718822
5- तिली मोबाइल नंबर 8770394816
6- सिविल लाइंस मोबाइल नंबर 9303713079
7- सुभाष नगर मोबाइल नंबर 9827524160
8- सिविल लाइन मोबाइल नंबर 9893456295 व 9806856856
9- मकरोनिया मोबाइल नंबर 7477080610
10- मकरोनिया मोबाइल नंबर 9893479782
11- बड़ा बाजार मोबाइल नंबर 8839596149 व 9425451314
12- सदर मोबाइल नंबर 9301628294
13- भगवानगंज मोबाइल नंबर 9770452263
14- मोतीनगर मोबाइल नंबर 7974950802
15- मकरोनिया मोबाइल नंबर 8818998743
16- मकरोनिया मोबाइल नंबर 9826021807
17- कोतवाली मोबाइल नंबर 9301346798
18- काजी मोहाल मोबाइल नंबर 8871555658
19- इतवारा बाजार मोबाइल नंबर 9897343047
20- पुरव्याउ मोबाइल नंबर 8871937424
21- पंत नगर मोबाइल नंबर 9340156096

कैसे रोकेंगे कालाबाजारी, किसी भी सामग्री की दरें तय ही नहीं
बंद के दौरान कालाबाजारी न हो और लोगों के लिए सुलभता से खाद्य सामग्री उपलब्ध हो सके इसके लिए तैयारियां तो कर रहे हैं, लेकिन अधिकारियों ने अब तक किसी भी सामग्री की दरें तय नहीं की हैं। इससे यह तय हो पाना मुश्किल होगा कि लोगों को कौन सी सामग्री महंगी मिल रही है। प्रदेश में अन्य जिलों की बात करें तो कालाबाजारी रोकने के लिए पहले से ही खाद्यान्न, दूध, फल-सब्जियों की भी दरें तय कर दी गई हैं। क्योंकि इस समय यह स्थिति देखने में आई है कि दूध का पैकेट पांच रुपए महंगा मिल रहा है तो फल-सब्जियों में तो फुटकर व्यापारियों की मनमर्जी चल रही है। मंडी में जो आलू-टमाटर 15-20 रुपए किलो में बेचा जा रहा है, मोहल्लों में लोगों को वही 40 रुपए किलो में बेचा जा रहा है। इसको लेकर नोडल अधिकारी आरपी अहिरवार का कहना है कि अभी तक दरों का निर्धारण नहीं किया गया है, लेकिन यदि महंगे दामों पर सामग्री बेची जा रही है तो कंट्रोल रूम सहित लोग संबंधित पुलिस थाने में भी शिकायत कर सकते हैं और यदि जरूरत पड़ी तो आने वाले दिनों में हर सामग्री की दरें तय की जाएंगी।

मदन गोपाल तिवारी
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned