यहां के 93 गांवों के किसानों पर पड़ी आेले की मार

यहां के 93 गांवों के किसानों पर पड़ी आेले की मार

Hamid Khan | Publish: Feb, 15 2018 05:10:28 PM (IST) Sagar, Madhya Pradesh, India

फसल बीमा क्लेम के लिए एचडीएफसी को दिए निर्देश

सागर. ओलावृष्टि से प्रभावित हुए जिले के गांवों की संख्या ९३ पर पहुंच गई है। सर्वाधिक २४ गांव केसली तहसील के प्रभावित हुए हैं। शुरूआती सर्वे में कुछ गांवों में २५ प्रतिशत से ज्यादा फसलें नष्ट होने की सूचना है। इन गांव की नष्ट हुई फसलों के सर्वेक्षण के लिए कलेक्टर आलोक कुमार सिंह ने एचडीएफसी बैंक को निर्देश दिए हैं। १२ एवं १३ फरवरी को सागर जिले के विभिन्न भागों में तेज वारिश के साथ ओलावृष्टि हुई थी, जिसमें चला, मसूर, बटरी सहित अन्य फसलें प्रभावित हुई थीं।
इन तहसीलों में इतने गांव प्रभावित
जानकारी के अनुसार भू-अभिलेख विभाग ने ओलावृष्टि से प्रभावित हुए गांवों की तहसीलवार संख्या की सूची जारी की है। सूची के अनुसार ८ तहसीलों के ९३ गांव प्रभावित हुए हैं।

वास्तविक नुकसानी का ब्योरा दो दिन में
प्रारंभिक सर्वे में नष्ट हुई फसलों को लेकर जिला कलेक्टर ने फसलों का बीमा करने वाली एचडीएफसी इरगो को निर्देश दिए हैं। आदेश में कहा गया है कि प्रभावित गांवों की फसलों का सर्वेक्षण कराएं ताकि बीमित फसलों का क्लेम जल्द ही किसानों को मिल सके। इस संदर्भ में कृषि विभाग के उप संचालक एके नेमा ने पत्र जारी किए हैं। प्रांरभिक सर्वे में यह भी पाया गया है कि कुछ गांवों में २५ प्रतिशत से ज्यादा व कुछ में कम हानि हुई है, सर्वे की वास्तविक नुकसानी का ब्योरा एक-दो दिन में आएगा।

तहसील गांव
केसली - २४
रहली - २०
देवरी - १०
सागर - ९
बीना - १६
गढ़ाकोटा - ७
राहतगढ़ - ७
बंडा - ७

ओलावृष्टि से खराब हुई फसलों का अफसरों ने किया निरीक्षण
रहली. विगत दो दिन में तेज बारिश व ओलावृष्टि से बर्बाद हुई फसलों का कलेक्टर आलोक सिंह ने राजस्व, कृषि विभाग एवं जनप्रतिनिधियों के साथ फसलों को देखा। निरीक्षण के दौरान वे ग्राम कड़ता, डोभी, रामपुर, पाटई, रानगिर, सेमरा गौड़, बडगान, अचलपुर, पांचमील, पटनाबुजुर्ग, रिझोड़ा, सावल खिरिया, सेमरा माधौ, बरखेरा सिंकंदर, मढिय़ा, पडरिया, रतनपुरा पहुंचे और किसानों से बात की। भाजपा नेता अभिषेक भार्गव ने बताया कि जिनका नुकसान हुआ है उनको उचित मुआवजा दिलाए जाने का प्रयास किया जाएगा। पटवारी सर्वे करने गांव गांव, खेत खेत जाएंगे। अपने नुकसान को दर्ज कराऐं, शासन द्वारा उचित राहत दी जाएगी। निरीक्षण के दौरान अनुविभागीय अधिकारी एलके खरे, तहसीलदार सीजी गोस्वामी, जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष राजेन्द्र जारोलिया, जनपद अध्यक्ष संजय दुबे, ग्रामीण मंडल अध्यक्ष राजेश सिंह परासई, पूर्व जनपद उपाध्यक्ष भरत सिंह सेमरा, आरआई जेपी विश्वकर्मा, जनपद सदस्य पप्पू पाटई, देवराज सिंह, सुरेश पटैल मौजूद थे।

देवरीकलां. ओलावृष्टि से फसलें बर्बाद हो गई हैं। नष्ट हुई फसलों का जायजा लेने एसडीएम राकेश मोहन त्रिपाठी, तहसीलदार सीएल वर्मा एवं जनपद सदस्य भवानी सिंह राजपूत किसानों व पटवारियों के साथ प्रभावित ग्राम जैतपुर कछया, सरखेड़ा घोसी पट्टी, चोपड़ा केसली क्षेत्र के ग्राम महुआ खेड़ा मोहासा, मनकापुर कोनिया सहित अन्य ग्रामों का निरीक्षण किया। जिसमें सबसे ज्यादा नुकसान चना, मसूर, बटरी की फसल में बताया जा रहा है। एसडीएम ने बताया कि खेतों का निरीक्षण किया गया है। कुछ ग्रामों में पटवारियों की टीम मौके पर भेजी गई है। अभी नुकसान का सही आकलन नहीं लगाया जा सकता है।

Ad Block is Banned