दहकते अंगारों के बीच नंगे पांव चले 143 श्रद्धालु, भगवान से मांगी मन्नत

दहकते अंगारों के बीच नंगे पांव चले 143 श्रद्धालु, भगवान से मांगी मन्नत

By: manish Dubesy

Updated: 03 Dec 2019, 03:13 PM IST

देवरी में लगा देव खंडेराव का अग्निमेला
देवरी कलां. देव श्री खंडेराव का अग्नि मेला अगहन माह की चम्पाषष्टि से शुरू हुआ। जो दस दिन तक चलेगा। इस मेले में लोग अपनी मनोकामना पूर्ण होने पर अग्नि कुंड से निकलते है। बताया जाता है कि खंडोवा देव का यह मंदिर पंद्रहवीं सदी का है। जो कि खांडेराव वार्ड में है। सोमवार को पहले दिन मंदिर परिसर में डेढ़ सौ श्रद्धालुओं ने पूजा अर्चना कर अग्निकुंड को पार किया। मंदिर में दहकते अंगारो से होकर 143 श्रद्धालु निकले। मेले में बड़ी संख्या में महिला पुरुष शामिल हुए। पारम्परिक वेशभूषा में उन्होंने पूजा कर अपनी मनोकामना पूर्ति के लिए भगवान का ध्यान लगाकर इन कुंडों में चलकर इन्हें पार किया। इस दौरान पूर्व विधायक सुनील जैन ने भी यहां पर अग्निकुंड में पूजा अर्चना कर इसे पार किया। दिनभर यहां श्रद्धालुओं की भीड़ रही और जयकारे लगते रहे।

रहली में लगा मेला
रहली. चंपाछठ के अवसर पर वार्ड छह स्थित सिद्ध बाबा मंदिर परिसर में दो दिवसीय मेला शुरू हो गया है। पहले दिन सोमवार को श्रद्धालु दहकते अंगारों से हेाकर निकले। विधि विधान से भगवान सिद्व बाबा भगवान की पूजा, अर्चन, हवन किया गया, उसके पश्चात परिसर में 7 अग्निकुड से पंडा के निकालने के बाद सभी श्रद्धालु अग्निकुड से निकले। श्रीमति लीला प्रजापति द्वारा निजी खर्चो पर इस मेले का आयोजन करती है। उन्होंने बताया कि यहां पर आये लोगो की मनोकामना पूर्ण होती है। कई श्रद्धालुओं ने मनोकामना पूरी होने अंगारों से निकले तों अनेक ने अगले वर्ष अंगारो से हेाकर निकलने की मनौती मांगी। अनेक श्रद्धालुओं ने मेला के अवसर पर अपने बच्चो के मुुंडन संस्कार करवाए। महिलाओ ने भजन गाए।

manish Dubesy Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned