जरा सी लापरवाही से जा सकती है जान, अंडरब्रिज को खोदे गए गड्ढे को भरने के बाद भी धंसी मिट्टी

अंडरब्रिज में लगाए गए थे ब्लॉक

By: anuj hazari

Published: 07 Jul 2020, 09:15 AM IST

बीना. रेलवे द्वारा सागर गेट पर जाम से लोगों को निजात दिलाने के लिए इमली वाली दरगाह के पास से अंडरब्रिज का निर्माण कराया जा रहा है, जहां पर बारिश में काम बंद होने के बाद खोदे गए गड्ढे को बंद कर दिया गया है, लेकिन बारिश के कारण मिट्टी में कटाव हो गया है। यहां अब लोगों के लिए खतरा बना हुआ है। गौरतलब है कि रेलवे सागर गेट के पास अंडरब्रिज का निर्माण कर रही है इसके लिए बारिश के पहले दोनों तरफ से गड्ढा खोदकर अंडरब्रिज में ब्लॉक लगाए गए थे, लेकिन बारिश होने के कारण काम को ब्लॉक लगाने के बाद रोक दिया गया है और खोदे गए गड्ढों को भी भर दिया गया है। गड्ढों को सही तरीके से नहीं भरे जाने के कारण बारिश में मिट्टी धसक गई और गड्ढे में एक सुरंग जैसी बन गई है। यदि यहां पर कोई भी व्यक्ति या जानवर पहुंच जाता है तो उसका जिंदा बाहर निकल पाना मुश्किल है, क्योंकि पानी के कटाव के कारण वहां पर गहरा गड्ढा हुआ है।
अब खानापूर्ति कर बांस से की जा रही बेरीकेटिंग
यहां पर गड्ढा होने के बाद से ठेकेदार के कर्मचारियों द्वारा गड्ढा को न भरकर चारों तरफ से काम चलाऊ बेरीकेटिंग की जा रही है, जिसमें बांस लगाकर पतली रस्सी बांधी जा रही है ताकि लोग वहां तक नहीं पहुंचे। जबकि बारिश के कारण यह गड्ढा और ज्यादा दूर तक बढ़ सकता है साथ ही जानवर भी वहां तक इस बेरीकेटिंग को तोड़कर जा सकते है। यदि किसी असामाजिक तत्व ने भी यह बेरीकेट तोड़ दिया तो लोग जानकारी के अभाव में वहां पहुंचकर अपना जान गंवा सकते है। इसलिए जरूरी है कि यहां पर चादर आदि लगाकर कोई ठोस तरीके से बेरीकेटिंग की जाए। क्योंकि दूसरी तरफ भी इमली वाली दरगाह है जहां पर हर दिन कई लोग आते हैं।
गड्ढे में डूबने से हो चुकी बच्चों की मौत
29 जून को ओवरब्रिज के लिए खोदे गए गड्ढे में डूबने से तीन नाबालिग बच्चों की मौत हो चुकी है। यहां पर भी ठेकेदार ने लापरवाही करके बेरीकेटिंग नहीं की थी। जिससे यह हादसा हुआ था।

anuj hazari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned