किसी ने नीबू से बनाई बिजली तो किसी ने बनाया देशी फ्रिज

किसी ने नीबू से बनाई बिजली तो किसी ने बनाया देशी फ्रिज

Gulshan Patel | Publish: Aug, 07 2018 05:56:06 PM (IST) Sagar, Madhya Pradesh, India

इस प्रदर्शन में तीन जिलों के कुल 32 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया।

सागर. एमएलबी स्कूल में सोमवार को संभाग स्तरीय इंस्पायर अवॉर्ड प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। सागर, दमोह, टीकमगढ़ जिले के बच्चों ने अपने मॉडल प्रदर्शित किए। किसी ने नीबू से बीज तो किसी ने बिजली और किसी ने देशी एसी बनाकर उसका उपयोग बताया। इस प्रदर्शन में तीन जिलों के कुल 32 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। मुख्य अतिथि विधायक शैलेन्द्र जैन ने प्रदर्शनी में मॉडलों का निरीक्षण कर बच्चों से कहा कि इस विद्यालय से मेरा भावनात्मक लगाव है। यह जमाना विज्ञान और सूचना का है और अब शैक्षणिक पद्धति ऑनलाइन होना चाहिए, जिसके प्रयास जारी है।
अपनी कल्पनाओं को किया साकार
रहली विकासखंड की माध्यमिक शाला छपरा से आए शाहरूख खान ने पानी से वजन लेने का मॉडल तैयार किया। इसी स्कूल की पूनम रजक ने सूर्य की ऊर्जा से आस्वत जल बनाने का मॉडल तैयार किया, जबकि उमावि बरखेड़ा सिकंदर की पुष्पा रजक ने औषधि पौधों के माध्यम से बीमारी पर नियंत्रण करने का प्रयोग बताया। शिशु मंदिर छपरा के कक्षा 8वीं छात्र पवन कुर्मी ने नीबू से बिजली बनाने का मॉडल बनाया, जबकि माध्यमिक शाला सदर क्रमांक1 के रूपेश विश्वकर्मा ने अपनी मार्गदर्शी शिक्षिका प्रतिभा जैन के मार्गदर्शन में सौर ऊर्जा एवं रिमोट के माध्यम से फर्श सफाई हेतु मशीन तैयार कर सभी की वाहवाही लूटी। शासकीय उमावि कन्या रहली की ऋचा अहिरवार ने देशी एसी कूलर बनाकर राशि के साथ-साथ बिजली की बचत करने का उदाहरण पेश किया। छात्रा ने बताया कि आज के समय टेबल पंखा सभी घरों में रहता है, जिसको उन्नयन कर यह कूलर तैयार किया है। उमावि सोजना दमोह के सर्वेश कुर्मी ने बाढ़ आने की सूचना अलार्म के माध्यम से देने का मॉडल तैयार किया। मॉडल शाहगढ़ के दर्शन कुमार स्वर्णकार ने केशव प्रसाद स्वर्णकार के मार्गदर्शन में थर्माकोल एवं पेट्रोल के मिश्रण से फेवीक्विक तैयार करने का मॉडल बनाया। उमावि दलपतपुर की आयांशी जैन एवं सीमा राठौर ने ऑटोमेटिक स्ट्रीट लाइट बनाकर बिजली बचत हेतु मॉडल तैयार किया। संयुक्त संचालक लोक शिक्षण सागर संभाग सागर, आरएन शुक्ला, डीईओ संतोष कुमार शर्मा, सहायक संचालक लोक शिक्षण, जेपी सिन्हा, डॉ. आशुतोष गोस्वामी, साइंस एण्ड टेक्नोलॉजी गांधीनगर गुजरात से प्रदर्शनी के निरीक्षण हेतु आई इनोवेशन फेलो नुपुर शाह, वायएस राजपूत, आरके वैद्य, प्राचार्य, गिरीश मिश्रा, अति. जिला परियोजना समन्वयक, आरएमएसए सागर, डीडी गोस्वामी, सागर जिले के विज्ञान अधिकारी शैलेन्द्र जैन, एनके श्रीवास्तव, मनोज नेमा, हितेन्द्र जैन, आरपी अग्निहोत्री, नरेन्द्र उपाध्याय, संजय दुबे उपस्थित थे।
आईडिया एवं वैज्ञानिक चुनने हेतु मील का पत्थर साबित होगी
साइंस एण्ड टेक्नोलॉजी गांधीनगर गुजरात से प्रदर्शनी के निरीक्षण को आई नुपुर शाह ने कहा कि इंस्पायर अवार्ड के माध्यम से कक्षा 6 से 10 तक छात्र-छात्राओं हेतु यह प्रदर्शनी आयोजित की जाती है और कुछ अलग सोच के आइडिया मिलते हैं। उन्होंने बताया कि देश भर से दस लाख में से एक लाख में से दस हजार में से एक हजार एवं 1 हजार में से साठ आइडिया चुने जाते हैं। इनको राष्ट्रपति भवन में तीन दिनों तक फाइनल प्रोग्राम के माध्यम से बाल वैज्ञानिक, मार्गदर्शी शिक्षक एवं अभिभावक को रुकने एवं खाने की व्यवस्था की जाती है । राष्ट्रपति द्वारा प्रथम प्रतियोगी आने पर 5 लाख, द्वितीय को १ लाख एवं तृतीय को 50 हजार की राशि प्रदान की जाती है।

यह रहे विजेता
प्रथम, रूपेश विश्वकर्मा सदर नंबर वन, द्वितीय दर्शन कुमार स्वर्णकार मॉडल स्कूल शाहगढ़ , तृतीय पियूष सप्रे एग्रीकल्चर उच्चतर माध्यमिक विद्यालय रहली, चतुर्थ अमित जाटव गोपालगंज और पांचवें नंबर पर सौरभ कुर्मी सौजना दमोह आए हैं।

Ad Block is Banned