scriptसबसे बड़े दान के लिए आगे आए दानी, रक्तवीरों को श्रीफल देकर किया सम्मानित | Patrika News
सागर

सबसे बड़े दान के लिए आगे आए दानी, रक्तवीरों को श्रीफल देकर किया सम्मानित

रक्तदान महादान है। सबसे बड़ा दान रक्तदान है। शुक्रवार को पत्रिका और भाग्योदय तीर्थ धर्मार्थ ट्रस्ट द्वारा रक्तदान दिवस के अवसर पर अस्पताल के कैंपस में स्थित फार्मेसी कॉलेज में रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया।

सागरJun 15, 2024 / 09:30 pm

रेशु जैन

rakt

rakt

पत्रिका और भाग्योदय तीर्थ धर्मार्थ ट्रस्ट द्वारा रक्तदान शिविर का आयोजन

सागर. रक्तदान महादान है। सबसे बड़ा दान रक्तदान है। शुक्रवार को पत्रिका और भाग्योदय तीर्थ धर्मार्थ ट्रस्ट द्वारा रक्तदान दिवस के अवसर पर अस्पताल के कैंपस में स्थित फार्मेसी कॉलेज में रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। शिविर सुबह 9.30 बजे शुरू हो गया। शिविर में लोग सुबह से सबसे पहले रक्तदान करने के लिए पहुंचे। शिविर में कई लोग पहली बार ब्लड डोनेशन करने पहुंचे। इनमें महिलाएं भी शामिल थी। रक्तदान करने आए लोगों मुख्य अतिथियों ने प्रमाणपत्र, श्रीफल और माला पहनाकर सम्मान भी किया।
कार्यक्रम में अतिथि के तौर पर एमडी सुगम कोठारी, शफीक भाईजान, ऋषभ सिंघई, अजित नायक, महेश बाबा एवं सुशील जैन उपस्थित थे। इस अवसर ब्लड बैंक प्रभारी डॉ. ऋषभ जैन ने कहा कि ब्लड डोनेशन को लेकर मन में भ्रम की स्थिति नहीं होनी चाहिए। यह एक सतत प्रक्रिया है जो मानक के अनुसार करने पर शरीर को किसी भी प्रकार का कोई भी नुकसान नहीं होता है। रक्तदान एक महादान है एक व्यक्ति के रक्तदान से दूसरे व्यक्ति की जान बचाई जा सकती है। प्रत्येक स्वस्थ व्यक्ति को स्वेच्छा से रक्तदान करना चाहिए। उन्होंने बताया कि हर वर्ष हम रक्तदान दिवस के मौके पर कैंप का आयोजन करते हैं। जिसमें अधिक संख्या में लोग ब्लड डोनेशन के लिए पहुंचते हैं।
पहली बार ब्लड डोनेशन करने का उत्साह

शिविर में बड़ी संख्या में लोग पहली बार ब्लड डोनेशन करने के लिए पहुंचे। रक्तदान शिविर में पति-पत्नी निखिल परिधि नायक ने पहली बार रक्तदान किया। वहीं संत रविदास वार्ड में रहने वाली महिला नीलेश बुंदेला ने भी पहली बार रक्तदान किया। उन्होंने बताया कि वे अपने पति के साथ रक्तदान करने के आई। वह रक्तदान करना चाहती थी। अपने रक्त का दान दूसरों को नया जीवन देना चाहती हैं।
संस्थाओं के सहयोग से आगे आए लोग

शिविर में रक्तदान महादान ग्रुप के संरक्षक सुखजीत सिंह अल्हुवालिया, संस्थापक अध्यक्ष रक्तवीर समीर जैन , उपाध्यक्ष आलोक जैन , सचिव पवन जैन एवं सह सचिव नीलेश जैन का सहयोग रहा। अपराजित मददगार योद्धा समाज कल्याण समिति के अध्यक्ष विजय जैन, कार्याध्यक्ष परिचित जैन, अजित जैन एवं नीतेश जैन का सहयोग रहा। हॉस्पिटल के मैनेजर नीरज जैन, पीआरओ संतोष खरे, पैथालॉजी प्रभारी डॉ नीरज जैन, कृष्णकांत मिश्रा, ओम प्रताप गर्ग, रवि जैन, रागवेंद्र लोधी, अंजू राजा, रानी अहिरवार, कीर्ति कुर्मी, देवेन्द्र विश्वकर्मा, अजय एवं चन्दन पटेल ने अपना सहयोग दिया।
इन्होंने किया रक्तदान

इस मौके पर नीलेश बुंदेला, सुशील जैन, दीपक पटेल, भरतींद्र सेन, सुमित चौबे, विनय तिवारी, निशा पटेल, विशाल लोधी, ऋतिक जैन, परिलव जैन, कामनी अहिरवार, सुनीता जैन, इशिता जैन, माया बिल्लोरे, रामकृष्ण पिल्लई, निखिल परिधि नायक, गजेंद्र प्रजापति, रविन्द्र जैन, यशवंत यादव, भूपेंद्र पटेल, नितिन सोनी, विवेक चौकसे, अरविंद विश्वकर्मा सहित अनेक लोगों ने रक्तदान किया।नर्सिंग छात्र-छात्राओं ने दिखाया उत्साहशिविर में नर्सिंग छात्र-छात्राओं ने उत्साह दिखाया। बड़ी संख्या में छात्राएं भी रक्तदान करने के पहुंची। हालांकि कुछ छात्राएं वजन कम होने की वजन होने के बावजूद रक्तदान नहीं कर पाईं। छात्राओं का कहना था हम अस्पताल में देखते हैं कि मरीजों को कैसे रक्त की जरूरत है। हम भी रक्तदान करके मरीजों की मदद कर रहे हैं।

Hindi News/ Sagar / सबसे बड़े दान के लिए आगे आए दानी, रक्तवीरों को श्रीफल देकर किया सम्मानित

ट्रेंडिंग वीडियो