डीआरएम ने कहा ये क्या तमाशा बना रखा है गंदगी से भरे पड़े हैं एप्रोन

anuj hazari

Publish: May, 18 2018 10:00:00 AM (IST)

Sagar, Madhya Pradesh, India
डीआरएम ने कहा ये क्या तमाशा बना रखा है गंदगी से भरे पड़े हैं एप्रोन

स्टेशन का निरीक्षण कर डीआरएम ने जमकर ली अधिकारियों की क्लास

बीना. रेलवे स्टेशन पर व्यवस्थाओं का जायजा लेने के लिए डीआरएम शोभन चौधरी बुधवार की रात बीना स्टेशन पहुंचे। जिन्होंने गुरुवार सुबह नौ बजे रिफायनरी जाने वाली रेलवे लाइन का निरीक्षण किया। इसके बाद वह सुबह करीब सवा दस बजे बीना स्टेशन पहुंचे और सबसे पहले यात्रियों की सुविधा में विस्तार के लिए तैयार किए जा रहे 24 कोच के प्लेटफॉर्म को देखने के लिए पहुंचे, जिसमें काम की गति व अच्छी गुणवत्ता के साथ प्लेटफॉर्म तैयार करने के निर्देश दिए। प्लेटफॉर्म के बेसमेंट में लगाए जा रहे पत्थरों में फिनिसिंग न होने पर उन्होंने आपत्ति जताई तो डीईएन ऋषि यादव ने जवाब देते हुए कहा कि उसमें आगे से फिनिसिंग का काम किया जाएगा देखने में कहीं से भी खराब नहीं लगेगा। डीआरएम का सबसे ज्यादा जोर सफाई पर रहा उन्होंने छह नंबर प्लेटफॉर्म से सटकर बने कचरा डंप को लेकर एचआई राजेश मीणा को फटकार लगाई उन्होंने कहा कि दूसरे तरफ लोग रह रहे हैं पर काम करना ही नहीं चाहता। इसके बाद वह पश्चिमी कॉलोनी से जोडऩे के लिए बनाए जा रहे फुटओबर ब्रिज देखने के लिए पहुंचे और निर्देश दिए कि जो भी परेशानी काम को कराने में आ रही है उसे तुरंत हल करके काम पूरा कराएं। इसके बाद प्लेटफॉर्म नंबर तीन-चार पर पहुंचे जहां पर जगह-जगह एप्रोन में गंदगी मिली। उन्होंने कहा कि पानी निकासी के लिए न तो प्रोपर नाली है न ही पानी निकलने के लिए कोई भी प्वाइंट खुले हैं। जिसके कारण पानी एप्रोन में ही भरा रहता है। उन्होंने गंदगी मिलने पर प्रभारी एसएस आरपी लाल को जमकर फटकार लगाई और जल्द व्यवस्थाओं में सुधार करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर एडीईएन स्वप्निल चौरसिया, डीसीआई सुशील पांडे, डीआई हरफूलसिंह भदाला, सीटीआई एसएस पॉल, एसएसई एसके गौर सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
इलेक्ट्रिकल विभाग के अधिकारियों को नहीं डीआरएम का डर
इलेक्ट्रिकल विभाग के अधिकारियों द्वारा रोजाना ट्रेन आने पर की जाने वाली बिजली कटौती कारगुजारी गुरुवार को भी बंद नहीं हुई। पिछले कुछ दिनों से ट्रेन आते ही स्टेशन पर लगे वॉटर कूलर व आरओ स्टॉल की बिजली सप्लाई बंद कर दी जाती है ताकि 15 रुपए की वॉटल बेचने वालों को इसका लाभ मिल सके।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned