मालखेड़ी स्टेशन पर लावारिस बैगों में मिला गांजा

चैकिंग के दौरान आरपीएफ ने जब्त कर किया जीआरपी के सुपुर्द

By: anuj hazari

Published: 16 May 2018, 09:00 AM IST

बीना. मालखेड़ी स्टेशन पर मंगलवार सुबह साढ़े तीन बजे स्टेशन पर गश्त के दौरान आरपीएफ को तीन बैगों में गांजा के 13 पैकेट मिले, जिन्हें जब्त कर जीआरपी बीना को सुपुर्द किया गया। मालखेड़ी स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक पर आरपीएफ एसआई एसएल यादव, प्रधान आरक्षक अजयनारायण, अनिल यादव, आरक्षक मनोज कुमार कुर्मी मंगलवार सुबह गश्त कर रहे थे उसके कुछ देर बाद उत्कल एक्सप्रेस आई जिसे अटेंड किया। ट्रेन के सागर की ओर जाने के बाद सागर एंड पर तीन बैग संदिग्ध रुप से डले दिखाई दिए। जिनकी खोलकर जांच की तो सभी बैगों में पॉलीथिन से लिपटे पैकेट मिले, जिनमें गांजा निकला। एक नीले रंग के बैग में चार खाकी कलर के पैकेट, एक भूरे रंग के पिट्टू बैग में पांच पैकेट व एक ट्रॉली बैग में चार पैकेट निकले। आरपीएफ ने मादक पदार्थ मिलने पर सभी पैकटों का पंचनामा तैयार किया और इसकी जानकारी जीआरपी बीना को दी गई, जीआरपी के पहुंचने पर तौल कराई गई तो सभी पैकेटों में 24 किलो गांजा निकला, जिसकी कीमत 96 हजार रुपए आंकी गई है।
जीआरपी ने की कार्रवाई
मालखेड़ी स्टेशन पर बैगों में गांजा मिलने पर आरपीएफ ने जीआरपी को सुपुर्द किया। जिसके बाद जीआरपी ने गांजा की जब्ती बनाकर नियमानुसार कार्रवाई की। मालखेड़ी स्टेशन पर आरपीएफ के मैसेज पर एसआई जीएल अहिरवार व एएसआई बीएस चंदेल मौके पर पहुंचे। जिन्होंने गांजे की जब्ती बनाई।
आरपीएफ को देखकर आरोपी के भागने की शंका
झांसी की ओर से आने वाली उत्कल एक्सप्रेस से ही गांजा के बैगों को किसी व्यक्ति द्वारा बीना तक लाए जाने शक है। क्योंकि रात में चलने वाली ट्रेनों में इस प्रकार की गतिविधियां होती हैं। यह गांजे की खेप शहर में सप्लाई किए जाने की भी आशंका जताई जा रही है। गांजा लाने वाले व्यक्ति ने आरपीएफ जवानों को देखकर बैगों को सागर एंड पर फेंक दिया ताकि आरपीएफ के जाने के बाद उन्हें वहां से ले जाया जा सके। लेकिन संदिग्ध बैग दिखने पर आरपीएफ ने उनकी जांच की तो बड़ी मात्रा में गांजा पाया गया।

anuj hazari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned