scriptEmployees did not reach the toll plaza even on the third day | टोल प्लाजा पर तीसरे दिन भी काम पर नहीं पहुंचे कर्मचारी, पढ़ें खबर | Patrika News

टोल प्लाजा पर तीसरे दिन भी काम पर नहीं पहुंचे कर्मचारी, पढ़ें खबर

कंपनी को हर दिन हो रहा 80 हजार रुपए का नुकसान

सागर

Updated: April 27, 2022 07:37:04 pm

बीना. बसाहरी टोल प्लाजा पर कर्मचारियों ने एक जनप्रतिनिधि पर मारपीट का आरोप लगाते हुए टोल प्लाजा पर काम करना बंद कर दिया और टोल को फ्री छोड़ दिया है, तो वहीं दूसरी ओर पूर्व काम करने वाले कर्मचारियों ने भी खुरई तहसील पहुंचकर एसडीएम के नाम ज्ञापन सौंपकर पूर्व में किए गए समझौता के आधार पर वापस नौकरी पर रखने की मांग की है। दरअसल टोल प्लाजा कर्मचारियों ने एक स्थानीय भाजपा नेता पर मारपीट करने का आरोप लगाया है। साथ ही दावा किया जा रहा है की मारपीट की पूरी घटना सीसीटीवी कैमरों में भी कैद है, जिसे उन्होंने अपनी कंपनी के अधिकारियों व एमपीआरडीसी अधिकारियों को भेजा है। पिछले तीन दिन से बसाहरी टोल प्लाजा पर कोई भी कर्मचारी काम नहीं कर रहा है और अपने आप को असुरक्षित होने की बात कहकर काम पर नहीं जा रहे है, जिसके कारण हर दिन कंपनी को करीब 80 हजार रुपए की चपत लग रही है। इस हिसाब से तीन दिन में कंपनी को 2 लाख 40000 रुपए का नुकसान हो चुका है। बुधवार को भी टोल प्लाजा पर कोई भी कर्मचारी काम करने के लिए नहीं पहुंचा है। जिससे सैकड़ों वाहन बिना कोई टोल चुकाए निकलते रहे।
पूर्व कर्मचारियों ने वापस काम पर रखने सौंपा ज्ञापन
पिछले करीब 11 साल से टोल पर काम करने वाले 40 कर्मचारियों को कंपनी ने बाहर कर दिया था, जिन्होंने फिर से नौकरी पर रखने की मांग को लेकर एसडीएम के नाम ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में उल्लेख किया गया है कि सभी कर्मचारियों को 11 फरवरी को टोल प्लाजा का नया टेंडर होने पर बाहर कर दिया गया था। जिसमें एसडीएम खुरई, विधायक, एसडीओपी बीना, थानाप्रभारी बीना, थानाप्रभारी खिमलासा, एमपीआरडीसी अधिकारी के सामने कंपनी ने सभी कर्मचारियों को महीने में 15 दिन काम पर रखने व सभी कर्मचारियों को वेतन के रूप में कुल 2 लाख रुपए देने की बात कही थी, लेकिन लिखित समझौता के बाद भी उन्हें वापस नहीं रखा गया है, इतना ही नहीं बिना किसी कारण के उनके खिलाफ 107, 16 व धारा 151 के तहत कार्रवाई भी की गई थी। लेकिन अधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद भी कर्मचारियों को वापस काम पर नहीं रखे जाने के कारण वह आर्थिक रूप से परेशान हैं।
करा दिया गया था हैंडओवर
टोल पर क्या हुआ है मुझे अभी इसकी जानकारी नहीं है। दो माह पहले नई कंपनी का टेंडर जारी होने पर शांतिपूर्ण तरीके से हैंडओवर कर दिया गया था।
मनोज चौरसिया, एसडीएम, खुरई

Employees did not reach the toll plaza even on the third day
Employees did not reach the toll plaza even on the third day

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

राजस्थान में इंटरनेट कर्फ्यू खत्म, 12 जिलों में नेट चालू, पांच जिलों में सुबह खत्म होगी नेटबंदीनूपुर शर्मा पर डबल बेंच की टिप्पणियों को वापस लिया जाए, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के समक्ष दाखिल की गई Letter PettitionENG vs IND Edgbaston Test Day 1 Live: ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारतीय टीम मजबूत स्थिति मेंMaharashtra Politics: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने देवेंद्र फडणवीस के डिप्टी सीएम बनने की बताई असली वजह, कही यह बातजंगल में सर्चिंग कर रहे जवानों पर नक्सलियों ने की फायरिंगपंचायत चुनाव: दो पुलिस थानों ने की कार्रवाई, प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह छाता तो उसने ट्राली भर छाता बंटवाने भेजे, पुलिस ने किए जब्तMonsoon/ शहर में साढ़े आठ इंच बारिश से सडक़ों पर सैलाब जैसा नजारा, जन जीवन प्रभावित2 जुलाई को छ.ग. बंद: उदयपुर की घटना का असर छत्तीसगढ़ में, कई दलों ने खोला मोर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.