बिना रसीद किसान न खरीदें खाद, दुकानदार थमा सकते है नकली खाद

एसडीएम ने टीम गठित कर दुकानों के स्टॉक की कराई जांच

By: sachendra tiwari

Published: 14 Oct 2021, 10:08 PM IST

बीना. दो दिन पहले डीएपी की कमी के कारण किसानों ने स्टेट हाइवे पर जाम लगाकर समय पर डीएपी मुहैया कराने की मांग की थी जिसके बाद एसडीएम ने नायब तहसीलदार के नेतृत्व टीम गठित कर खाद दुकानों में स्टॉक की जांच कराई। जिसमें दुकानदारों के पास स्टॉक में डीएपी नहीं मिला।
दरअसल किसानों की मांग के बाद एसडीएम प्रकाश नायक ने नायब तहसीलदार प्रिंसी जैन के नेतृत्व में ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी राकेश परिहार, एससी जैन सहित अन्य सदस्यों की टीम गठित की। जिन्होंने गुरूवार को सबसे पहले पूजा ट्रेडर्स पर डीएपी के स्टॉक के लिए रिकार्ड की जांच की जहां डीएपी का स्टॉक नहीं मिला। इसके बाद टीम ने सुनील टे्रडर्स पर पहुंचकर स्टॉक की जांच की और गोदाम का निरीक्षण किया जहां पर स्टॉक रजिस्टर के अनुसार ही खाद का स्टॉक मिला लेकिन डीएपी नहीं था। इसके बाद दांगी ब्रदर्स, वर्धमान ट्रेडर्स, वीर टे्रडर्स पर जाकर भी टीम ने जांच की। जहां व्यापारियों के पास डीएपी का स्टॉक नहीं था। नायब तहसीलदार ने व्यापारियों से कहा कि किसी भी स्थिति में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसलिए जो भी खाद बेचा जाए वह पीओएस मशीन से ही बेचा जाए। यदि ऐसा नहीं किया गया तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। तो वहीं कृषि विस्तार अधिकारी ने भी किसानों से अपील की है कि व्यापारियों की बातों में आकर गलती न करें किसान डीएपी लेने के बाद पीओएस मशीन से रसीद जरूर ले। क्योंकि बिना बिल के मिलने वाला खाद नकली भी हो सकता है। खाद की कमी से इसकी आशंका जताई जा रही है।

Show More
sachendra tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned