यहां चिलचिलाती धूप में और गर्म रोड पर बैठकर किसानों ने जताया विरोध, लगाया जाम

समर्थन मूल्य केन्द्र पर तौल न होने और अनियमिताओं से हैं परेशान

By: sachendra tiwari

Published: 24 May 2018, 05:39 PM IST

बीना. समर्थन मूल्य खरीदी केन्द्रों पर किसानों की मुसीबत कम नहीं हो रही है। तौल सहित अन्य अनियमितताओं के चलते किसान परेशान हैं। गुरुवार की दोपहर किसानों ने किसान नेता इंदरसिंह के नेतृत्व में बीना-सागर हाइवे पर जाम लगा दिया। जिससे दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतारें लग गई थीं।
किसानों ने दोपहर में आसमान से बरसती आग के बीच गर्म रोड पर बैठकर विरोध जताया और रोड पर जाम लगा दिया। सूचना मिलने के बाद एसडीएम डीपी द्विवेदी, तहसीलदार कमलेश अग्रवाल, थाना प्रभारी कमल निगवाल पहुंचे और किसानों को समझाइश दी। किसानों का कहना था कि कई दिनों से किसान तौल के इंतजार में बैठे हैं, लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है। मंडी में भीड़ ज्यादा होने के कारण ट्रैक्टर ट्रॉली निकालने में भी परेशानी हो रही है। समितियों पर बड़ी मात्रा में अनाज रखा होने से भी तौल नहीं हो रही है, इसके बाद भी परिवहन नहीं हो रहा है। अधिकारियों के आश्वासन के बाद करीब आधा घंटा बाद जाम हटाया गया।
दो दिन मंडी में नहीं होगी डाक
किसानों के प्रदर्शन के बाद एसडीएम ने निर्णय लिया कि शुक्रवार, शनिवार मंडी में डाक नहीं होगी, सिर्फ समिति केन्द्रों पर तौल होगी। डाक बंद रहने से परिसर में जगह निकल आएगी। मंडी प्रशासन द्वारा यह सूचना किसानों को दी जा रही है।
रुपए लेकर हो रही तौल, भेज रहे मैसेज
किसानों ने बताया कि जो किसान रुपए दे देते हैं उनके अनाज की तौल पहले कर दी जाती है। मैसेज भेजने के लिए भी रुपए लिए जा रहे हैं। जिसपर एसडीएम ने, अधिकारियों को कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया है। रुपए मांगने वालों पर एफआईआर कराई जाएगी।
वीडियो की होगी जांच
समर्थन मूल्य केन्द्र पर सील लगाने के लिए रुपयों की मांग करने वाले वायरल वीडियो के संबंध में एसडीएम ने कहा कि जांच कर कार्रवाई की जाएगी जो भी इसमें गलत पाया जाएगा उसपर कार्रवाई होगी।
मंडी की गोदामों में रखी जाएं बोरियां
किसानों ने बताया कि मंडी में करीब एक हजार मैट्रिक टन अनाज रखने की व्यवस्था है। इसके बाद भी वहां अनाज नहीं रखा जा रहा है। इस संबंध में एसडीएम ने संबंधित अधिकारियों से बात की है। क्योंकि वेयरहाउस में भी अब जगह कम बची है और किराए के वेयरहाउसों की तलाश भी की जा रही है।
परिवहन न करने पर होगी कार्रवाई
एसडीएम ने बताया कि परिवहन करने वाले ठेकेदार के खिलाफकार्रवाई के लिए वरिष्ठ अधिकारियों को पत्र लिखा गया है। परिवहन ज्यादा से ज्यादा कराने का प्रयास किया जा रहा है।
मंडीबामोरा समिति पर भी रखा हजारों क्विंटल अनाज
मंडीबामोरा समिति द्वारा वहीं की मंडी में चना, मसूर की खरीदी की जा रही है। वहां भी परिवहन न होने के कारण हजारों क्विंटल अनाज खुले में रखा हुआ है। मंंडी में पैर रखने के लिए भी जगह नहीं बची है। केन्द्र संचालक द्वारा लगातार शिकायतें की जा रही हैं, लेकिन अभी तक कोई प्रयास नहीं किए गए हैं।
समिति संचालक के परिवार के सदस्य कर रहे काम
किसानों ने बताया कि समिति संचालकों के परिवार के लोग काम कर रहे हैं और उनके द्वारा ही अनियमितताएं की जा रही हैं। जिसपर एसडीएम ने संचालकों को हिदायत दी है कि कहा कि परिवार के सदस्य सिर्फ व्यवस्थाओं पर नजर रखने के लिए ही मौजूद रहेंगे। इसके अलावा समिति पर कोई काम नहीं करें।

sachendra tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned