किसानों ने कहा साहब हमें जा समझ नहीं आ रही मुख्यमंत्री झूठे हैं या किसान

हजारों क्विंटल गेहूं की नहीं हुइ फीडिंग, किसानों ने की नारेबाजी

By: anuj hazari

Published: 06 Jun 2020, 09:00 AM IST

बीना. किसानों के बेचे जा चुके अनाज की खरीदी केन्द्रों पर फीडिंग नहीं होने के कारण सैकड़ों किसानों का भुगतान नहीं हुआ है। वहीं सीएम के आदेश के बाद भी खरीदी केन्द्रों पर चना में दो प्रतिशत अन्य अनाज होने पर खरीदी नहीं की जा रही है, जिसके बाद शुक्रवार को किसान नेता इंदरसिंह ठाकुर के नेतृत्व में तहसील पहुंचकर नारेबाजी की गई। किसानों ने सबसे पहले बीना-खिमलासा रोड पर जाम लगाकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और जल्द से जल्द बेचे गए गेहूं की पोर्टल पर फीडिंग कराके भुगतान कराने की मांग की। इसके बाद सभी किसान वापस तहसील प्रांगण पहुंचे और तहसीलदार संजय दुबे से कहा कि साहब हमें यह समझ नहीं आ रहा है कि मुख्यमंत्री झूठे हैं या फिर किसान। चूंकि किसान परेशान हैं फिर भी उनकी सुनवाई नहीं हो रही है। किसानों ने कहा कि सीएम शिवराज सिंह चौहान का कहना है कि वह किसानों का एक-एक दाना खरीदेंगे, लेकिन धरातल पर स्थिति यह है कि जिन किसानों ने खरीदी केन्द्रों पर अनाज बेच दिया है उसमें से सैकड़ों किसानों के अनाज की फीडिंग पोर्टल पर नहीं की है, जिससे उनके बेचे गए अनाज का भुगतान अटक गया है। किसानों ने इस संबंध में एसडीएम के नाम तहसीलदार के लिए ज्ञापन भी दिया, जिसमें उल्लेख किया गया है कि मंडीबामोरा केन्द्र पर करीब 3700 क्विंटल, साइलों केन्द्र पर करीब 9 हजार क्विंटल के साथ भानगढ़, पिपरासर, कंजिया केन्द्रों पर करीब दस-दस हजार क्विंटल गेहूं की पोर्टल पर फीडिंग नहीं हुई है। वहीं खरीदी केन्द्रों पर चना बेचने के लिए जा रहे किसानों से तेवड़ा मिला अनाज केन्द्र प्रभारी नहीं ले रहे हैं। किसानों से वह सरकार का आदेश दिखाने के लिए कह रहे हैं, जिसके बाद किसानों को तहसील जाकर हंगामा करना पड़ा। सभी ने चेतावनी दी है कि यदि एक सप्ताह के अंदर व्यवस्थाएं नहीं सुधारी गई तो किसान जेल भरों आंदोलन के साथ चक्काजाम करने के लिए बाध्य हो जाएंगे। इस अवसर पर विजय सिंह, रामनाथ सिंह, मेहरबान सिंह, रवि, राजेन्द्र सिंह, गोविंद, रघुराज सिंह, जसवंत सिंह, बलवीर सिंह, रीताराम, प्रेमसिंह, जंडेल सिंह, देशराज सिंह, मुलायम सिंह सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।
पुरैना खरीदी केन्द्र के किसान ज्यादा परेशान
तहसील पहुंचे किसानों में से सबसे ज्यादा परेशान पुरैना खरीदी केन्द्र के किसान थे। जिनमें से अधिकांश किसानों की फीडिंग न होने से वह भुगतान के लिए परेशान हैं।
पूरी फसल बेंचकर हाथ पर हाथ रखे बैठे किसान
किसानों ने बताया कि कंजिया सहित बेतवा नदी के पास के क्षेत्र में केवल गेहूं की बोवनी होती है और इस किसानों ने पूरी की पूरी फसल बेच दी और करीब दिन बाद भी भुगतान नहीं हुआ है।

anuj hazari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned