सागर. उपनगर में रेलवे स्टेशन के समीप हाउसिंग बोर्ड की खाली पड़ी जमीन पर बीते कुछ समय से फ्लाइ एस से ईंट बनाने का अवैध कारखाना संचालित हो रहा है। प्लांट लगाने को लेकर न तो नगर पालिका ने किसी प्रकार की अनुमति दी है और न ही प्रदूषण नियंत्रण कार्यालय से किसी प्रकार की एनओसी ली गई है। नगर पालिका के अनुसार हाउसिंग बोर्ड के अधिकारियों की शह पर बोर्ड की आवासीय कॉलोनी का काम कर रहे ठेकेदार ने यह प्लांट लगाया है। हैरत की बात यह है कि बिना किसी परमीशन के महीनों से संचालित इस प्लांट पर अब तक किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की गई है।
रहवासी क्षेत्र में नहीं दी जा सकती परमीशन: नगर पालिक निगम एक्ट के तहत रहवासी क्षेत्र में किसी भी प्रकार के कारखाने की अनुमति नहीं दी जा सकती है। यहां तक की पानी पैकिंग के प्लांट को अनुमति देने पर पाबंती है, जबकि दीनदयाल नगर के रहवासी क्षेत्र से लगकर तो यह फ्लाइ एस से ईंट बनाने का कारखाना संचालित किया जा रहा है। इससे उडऩे वाली डस्ट से कई प्रकार की गंभीर बीमारियों का भी खतरा है। इसके बाद भी प्लांट संचालक पर जिम्मेदारों की रहमत बरस रही है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned