scriptFor 35 years, not even an inch of space has increased in this city. | 35 सालों से इस शहर की एक इंच भी जगह नहीं बढ़ी | Patrika News

35 सालों से इस शहर की एक इंच भी जगह नहीं बढ़ी

परिसीमन व सीमा विस्तार पर नहीं लिया जा रहा संज्ञान, प्रदेश के स्मार्ट शहरों में सबसे कम है सागर शहर का क्षेत्रफल

सागर

Updated: April 18, 2022 05:20:52 pm

सागर. शहर की सीमाओं का विस्तार 35 सालों से अटक कर रह गया है। नगर निगम सागर की स्थापना के बाद से सिर्फ दो बार ही परिसीमन का कार्य हुआ है, जबकि सीमा वृद्धि एक बार भी नहीं हुई है। वर्ष-2019 में सीमा वृद्धि का ड्रॉफ्ट तैयार हो गया था लेकिन हाई कोर्ट के निर्देश पर सागर समेत प्रदेश के कई नगरीय निकायों के प्रस्ताव निरस्त हो गए। भोपाल में 8 साल पहले तो सतना में वर्ष-2010 में वार्डों की संख्या परिसीमन के जरिए बढ़ाई गई थी लेकिन सागर में 30 साल से वार्डों की संख्या में कोई भी इजाफा नहीं हुआ है। सागर का सिटी एरिया प्रदेश के सभी सातों स्मार्ट शहरों में सबसे कम है।

35 सालों से इस शहर की एक इंच भी जगह नहीं बढ़ी
35 सालों से इस शहर की एक इंच भी जगह नहीं बढ़ी
वर्ष-1983 में नगर निगम बना था सागर

सागर, नगरपालिका से नगर निगम वर्ष-1983 में बना था। शुरुआत में 35 वार्ड थे लेकिन जब नगर निगम सागर का दर्जा मिला तो वर्ष-1983 में ही परिसीमन के आधार पर 42 वार्ड हो गए। वर्ष-1992 में सागर नगर निगम में दूसरी दफा परिसीमन किया गया और वार्डों की संख्या 6 बढ़ाकर कुल 48 वार्ड हो गए। वर्ष-1992 से आज तक शहर की सीमा में कोई भी वृद्धि नहीं हुई है।
योजनाओं की बढ़ जाती राशिसागर नगर निगम क्षेत्र में वर्तमान में स्मार्ट सिटी योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, सीवर प्रोजेक्ट, वाटर सप्लाई प्रोजेक्ट समेत अन्य पर काम चल रहा है। नगर निगम के विशेषज्ञों का कहना है कि यदि वर्ष-2019 में निगम का सीमा विस्तार हो गया होता तो जो गांव निकाय क्षेत्र में आते उन्हें भी इन योजनाओं का लाभ मिल जाता। वर्तमान में जो प्रोजेक्ट सागर को मिले हैं वे तय समय के लिए हैं।
मकरोनिया के कारण बनी सारी अव्यवस्था

सागर शहर से सबसे बड़ा क्षेत्र उपनगरीय क्षेत्र मकरोनिया जुड़ा है। इस उपनगरीय क्षेत्र को खास वजह से शहर की सीमा से लगे होने के बावजूद अलग से नगरपालिका का दर्जा दे दिया और 18 नए वार्ड बना दिए। कई सालों से मकरोनिया को सागर में जोड़े जाने का प्रयास चल रहा था लेकिन एक निर्णय ने मकरोनिया का सागर से अलग कर दिया। मकरोनिया यदि सागर का हिस्सा होता तो स्मार्ट सिटी योजना में इस क्षेत्र में भी कई विकास कार्य हो सकते थे।
फैक्ट फाइल

जिला सिटी एरिया

सागर 49

सतना 71

उज्जैन 151

जबलपुर 263

ग्वालियर 289

भोपाल 463

इंदौर 525

नोट- एरिया वर्ग किलोमीटर में है।
फैक्ट फाइल-2

जिला जनसंख्या

सागर 274556

सतना 280222

उज्जैन 515215

जबलपुर 1267562

ग्वालियर 1054420

भोपाल 1798218

इंदौर 1994397

नोट- वर्ष-2011 के अनुसार।

निकट भविष्य में बढ़ेंगी सीमाएं
सीमा विस्तार या परिसीमन के लिए शासन के निर्देशों पर कार्रवाई करते हैं। पिछले वर्षों में इसके लिए ड्रॉफ्ट भी तैयार कर लिया था। जैसे ही कोई दिशा-निर्देश मिलेंगे तो निश्चित रूप से शहर की सीमाओं की वृद्धि की दिशा में कार्य किया जाएगा। - आरपी अहिरवार, निगमायुक्त

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

ताजमहल के बंद 22 कमरों में क्या है, ASI ने जारी कर दी फोटोPM Modi Nepal Visit : नेपाल के बिना हमारे राम भी अधूरे हैं, नेपाल दौरे पर बोले पीएम मोदीमहबूबा मुफ्ती ने कहा इनको मस्जिद में ही मिलता है भगवानMonsoon Update 2022: अंडमान-निकोबार पहुंचा मानसून, जानिए आपके राज्य में कब होगी बारिशGyanvapi Survey: ज्ञानवापी परिसर में जहां मिला शिवलिंग उसे अदालत ने तत्काल सील करने का दिया आदेश, जानें क्या कहा DM नेBCCI ने Women T20 Challenge के लिए टीमों का किया ऐलान, मिताली और झूलन को दिया बड़ा झटकाजातिगत जनगणना: भाजपा के विरोध के बावजूद सीएम नीतीश कुमार बिहार में जल्द बुलाएंगे सर्वदलीय बैठकUdaipur Chintan Shivir: राजस्थान में दंगे करवाने में भाजपा के बड़े नेताओं का हाथ, 'चिंतन' के बाद बोले सीएम गहलोत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.