ओवरब्रिज के लिए लाए गए गार्डर दे रहे मौत को दावत

ब्रिज बनाने वाली कंपनी ने नहीं की गार्डर की बेरीकेडिंग

By: anuj hazari

Published: 30 Sep 2020, 09:15 AM IST

बीना. शहर के झांसी गेट पर बनाए जा रहे ओवरब्रिज के लिए गार्डर बुलाए गए है यह गार्डर इस तरीके से रखे गए हैं कि यदि रात के समय कोई वाहन चालक जरा सी चूक होने पर इनसे टकराकर सीधे काल के गाल में समां सकता है।
गौरतलब है कि झांसी गेट पर ओवरब्रिज निर्माण का कार्य चल रहा है, धीमी गति होने के बाद जब विधायक ने नाराजगी जताई तो काम में तेजी आई, लेकिन इस काम में तेजी लाने के बाद जल्दवाजी में ऐसे काम भी किए जा रहे हैं, जिससे बड़ी घटना होने से इंकार नहीं किया जा सकता है।
अंधेरे में नहीं देते दिखाई
करीब एक सप्ताह पहले यह गार्डर ओवरब्रिज के लिए लाए गए थे, जिन्हें निर्माणाधीन ब्रिज के आगे सटाकर खड़े में रख दिया है जो कि रात के अंधेरे में दिखाई नहीं देते थे जहां पर टकराने से किसी की जान भी जा सकती है। यहां पर ब्रिज बनाने वाली कंपनी के लिए या तो बेरीकेड लगाने थे या फिर गार्डर के आगे के हिस्से में रेडियम लगा देना था जिससे कि वह रात के समय में दिखाई दे सके। इतना ही नहीं गार्डर को यदि सीधे न रखकर आढ़े करके रखे जाते तो लोगों को दीवार की भांति वह सामने से दिख जाते, क्योंकि इन गार्डर को ओवरब्रिज में कब रखा जाएगा यह अभी कहना मुश्किल है।
निकलने के लिए भी नहीं बची जगह
जिस जगह पर गार्डर रखे गए है वहां से वाहन निकलने के लिए महज पांच से छह फीट की जगह ही बचती है। जिसके कारण चार पहिया वाहन मुश्किल से निकल पा रहे है, कई बार यहां पर वाहन निकालते समय जाम की स्थिति भी निर्मित हो जाती है, लेकिन जिस समय काम किया जाता है उस समय ब्रिज के अधिकारी यदि इस पर ध्यान दे देते तो निश्चित ही लोगों को असुविधा का सामना नहीं करना पड़ता।

anuj hazari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned