नाटिका में दिखाई भगवान की महिमा

नाटिका में दिखाई भगवान की महिमा

By: manish Dubesy

Published: 18 Feb 2020, 04:27 PM IST

देवरी. आचार्यश्री विद्यासागर महाराज के शिष्य मुनि प्रशांत सागर, मुनि निर्वेग सागर, मुनि विमल सागर, मुनि भाव सागर, मुनि विश्वास सागर महाराज के सानिध्य में 20 फ रवरी तक पंच कल्याणक आयोजित हो रहा है। प्रतिदिन अभिषेक, शांतिधारा, पूजन, आरती, प्रवचन एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम चल रहे हैं।
सोमवार को जन्म कल्याणक हुआ। जिसमें प्रात: काल पात्रशुद्धि, अभिषेक, शांतिधारा, नित्यपूजन हआ। प्रभु का अवतार के दौरान जन्म, बधाइयां, शांतिहवन व मुनि का आशीर्वचन हुआ। इंद्रसभा एवं राजदरबार, इंद्राणी द्वारा प्रथम दर्शन, इंद्र द्वारा सहस्राक्ष दर्शन किया गया।
जन्माभिषेक जुलूस गीतांजलि कॉलोनी से नगर पालिका होते हुए वापस पंचकल्याणक स्थल आया। पांडुक शिला पर जन्माभिषेक एवं शृंगार हुआ। गरीबों को वस्त्र, औषधि, फल आदि वितरण हुए। गौशाला के लिए गाय दान की गई।इस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम हुए। मुनिश्री अनंतसागर जी ने कहा किए बालक का जन्म हुआ है वह भगवान बनेगा।
इस बालक के जन्म की खुशियाँ सभी मना रहे हैं क्योंकि यह उसका अंतिम जन्म है। यह बालक इतना सुंदर होता है कि 1000 नेत्र बनाकर वह सौधर्म इंद्र दर्शन करता है। अपने जीवन को बदल लिया तो इस कार्यक्रम की सार्थकता है। एक मिनट का मजा जिंदगी भर की सजा थोड़े से मनोरंजन के लिए जो पाप होता है उसकी सजा कर्मों के माध्यम से बड़े रूप में मिलती है। मन को अच्छा बनाओ जिससे नरक नहीं जाना पड़े। मंगलवार को तप कल्याणक होगा।

manish Dubesy Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned