scriptGod will wake up, good work will start again after four months | जागेंगे देव, चार माह बाद फिर शुरू होंगे शुभ कार्य, गूंजेगी शहनाइयां | Patrika News

जागेंगे देव, चार माह बाद फिर शुरू होंगे शुभ कार्य, गूंजेगी शहनाइयां

20 नवम्बर से विवाह लग्न का पहला मुहुर्त

 

सागर

Published: November 19, 2021 06:44:20 pm

सागर. देव उठनी ग्यारस के साथ ही चार माह से बंद शुभ कार्य और विवाह लग्न फिर शुरू होंगे। ग्यारस पर शहर के वृंदावन बाग सहित प्रमुख मंदिरों में विशेष पूजा- अर्चना के साथ घर- घर में गन्ने- ज्वार के मंडप सजाकर देव उठाए जाएंगे।
एकादशी तिथि 14 नवम्बर सुबह 8.42 बजे से प्रारंभ होकर आज 15 नवम्बर को 8.34 बजे तक रहेगी। देवउठनी ग्यारस के पांच दिन बाद 20 नवम्बर को विवाह लग्न का पहला मुहुर्त होने से परिवारों में वैवाहिक कार्यक्रम की तैयारी अभी से ही शुरू कर दी गई है। शहर के मैरिज गार्डनों में भी बुकिंग लगभग पूरी हो चुकी है। नवम्बर से फरवरी के बीच एक दर्जन से प्रमुख विवाह मुहूर्त बताए जा रहे हैं।
वर्षाकाल में 20 जुलाई को देवशयन के बाद विवाह लग्न सहित शुभ कार्यों पर विराम लग गया था। परम्परा और मान्यताओं के चलते इस अवधि में विवाह लग्न और अन्य शुभ कार्य वर्जित माने जाते हैं।
एेसे में गत चार माह से लोग अपने पुत्र- पुत्रियों के विवाह सहित शुभ कार्यों के लिए देवउठनी ग्यारस का इंतजार कर रहे थे। इस सीजन में 20 नवंबर से शुभ मुहुर्त खुलने से लोग परिवार में वैवाहिक आयोजनों के अलावा गृह प्रवेश, भवन निर्माण सहित अन्य कार्य प्रारंभ करेंगे। इन दिनों कार्तिक स्नान और भागवत कथाओं के आयोजन जारी है और ग्यारस पर तुलसी- शालिगराम विवाह के आयोजनों की भी तैयारी की जा रही है।
रोशनी से सजेगा शहर, होंगे तुलसी विवाह
देव उठनी ग्यारस पर शहर के मंदिरों को विशेष रूप से सजाने के साथ ही पूजा- अर्चना की जाएगी। इस दिन लोग अपने घरों पर भी मंडल सजाकर देवों के जागने का आव्हान करते हुए पूजा- परिक्रमा करते हैं। देवों को जगाने से पूर्व घरों को दिवाली की तरह रोशनी से जगमग किया जाता है। इस दौरान लोग आतिशबाजी भी करते हैं।

जागेंगे देव, चार माह बाद फिर शुरू होंगे शुभ कार्य, गूंजेगी शहनाइयां
जागेंगे देव, चार माह बाद फिर शुरू होंगे शुभ कार्य, गूंजेगी शहनाइयां
विवाह के लिए तीन माह के शुभ मुहुर्त
देवउठनी ग्यारस के बाद 20 नवम्बर को पहला विवाह मुहुर्त है। इसके बाद फरवरी के बीच ढाई माह में 13 शुभ लग्न मुहुर्त हैं। 6 से 12 जनवरी के बीच सात दिन शुक्र अस्त होने की वजह से विवाह नहीं होंगे। फरवरी में 24 तारीख को गुरु अस्त होने के बाद मलमास के कारण वैवाहिक आयोजन एक माह के लिए थम जाएंगे। नवम्बर माह में 20, 21, 28 और 30 तारीख को वैवाहिक मुहुर्त हैं। जबकि दिसम्बर में 1, 7, 11, 13, जनवरी में 22 और 23 वहीं फरवरी में 5, 6 और 10 तारीख में शुभ लग्न के मुहुर्त में वैवाहिक आयोजन होंगे।
मंडप सजाने गन्ने की खरीदारी, अन्नकूट के लिए भाजी, फल- सब्जियां भी खरीदी
सागर. देव उठनी ग्यारस से पूर्व शहर और उपनगर के बाजारों में रविवार को जगह- जगह गन्ने के ढेर नजर आए। ग्यारस पर पूजा- अर्चना और अन्नकूट सजाने के लिए बेर, भाजी, आंवला, गन्नों के अलावा फूलों की भी खरीदारी की गई। उधर रविवार को शहर के तुलसी दशमी पर देवालयों में तुलसी महोत्सव का आयोजन कर तुलसी पूजन किया गया। इस दौरान चंपाबाग, देव सिद्धेश्वर मंदिर परिसर में बड़ी संख्या में महिलाओं द्वारा तुलसी पूजा की गई। देव उठनी ग्यारस पर लोग विशेष पूजा- अर्चना करते हैं। अंचल में इसी दिन से नई तरकारी, बेर, भाजी, आंवला, मूली आदि को आहार में लेना शुरू किया जाता है। परम्परा के अनुसार देवशयन से देव उठनी ग्यारस तक शुभ और वैवाहिक आयोजन नहीं होते। देवउठनी ग्यारस पर देवों को जागने के बाद इन बंद पड़े कार्यों का शुभारंभ किया जाता है।
ग्यारस पर देवों को जगाने के लिए घरों पर गन्ने और ज्वार के मंडप सजाए जाते हैं जिनके बीच भगवान के पदचिन्हों की रंगोली सजाई जाती है। भगवान को अन्नकूट के रूप में विभिन्न फल, तरकारियों का भोग लगाने की भी परम्परा है। इस दौरान परिवार के सदस्य 'उठो देव, बैठो देव, पावंरियां चटकाओ देव और ' बेर, भाजी, आंवला, उठो देव सांवला गाते हुए मंडप की परिक्रमा करते हैं।
पूजा से पहले चढ़े गन्ने के भाव
रविवार को सुबह से ही शहर के प्रमुख बाजारों के अलावा सड़कों के किनारे गन्ने के ढेर और गन्ने से लदी ट्रॉलियां खड़ी हो गई थी। दोपहर बाद जब लोग गन्ने खरीदने पहुंचे तो खरीदारी बढऩे के साथ ही गन्ने की कीमत भी उछल गई। शहर में 15 रुपए से 40 रुपए की कीमत में लोगों द्वारा गन्ना खरीदा गया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

भाजपा की दर्जनभर सीटें पुत्र मोह-पत्नी मोह में फंसीं, पार्टी के बड़े नेताओं को सूझ नहीं रह कोई रास्ताविराट कोहली ने छोड़ी टेस्ट टीम की कप्तानी, भावुक मन से बोली ये बातAssembly Election 2022: चुनाव आयोग ने रैली और रोड शो पर लगी रोक आगे बढ़ाई,अब 22 जनवरी तक करना होगा डिजिटल प्रचारभारतीय कार बाजार में इन फीचर के बिना नहीं बिकेगी कोई भी नई गाड़ी, सरकार ने लागू किए नए नियमUP Election 2022 : भाजपा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी, गोरखपुर से योगी व सिराथू से मौर्या लड़ेंगे चुनावमौसम विभाग का इन 16 जिलों में घने कोहरे और 23 जिलों में शीतलहर का अलर्ट, जबरदस्त गलन से ठिठुरा यूपीBank Holidays in January: जनवरी में आने वाले 15 दिनों में 7 दिन बंद रहेंगे बैंक, देखिए पूरी लिस्टUP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्य
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.