दिसंबर में ही स्कूलों में होगा कोर्स पूरा, पिछड़े स्कूलों में रविवार को भी लगेंगी क्लास

लोक शिक्षण संचालनालय ने दिए निर्देश

 

सागर. माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड की कक्षा 10वीं व 12वीं के कोर्स को किसी भी हाल में दिसंबर के अंत तक पूरा कराने के निर्देश लोक शिक्षण संचालनालय ने दिए हैं। इनके पालन के लिए जिले से लेकर ब्लाक तक में कवायद की जा रही है। हालांकि कुछ स्कूल ऐसे है जो कोर्स में काफी पिछड़े हुए हैं। इसलिए इन स्कूलों में अतिरिक्त कक्षाएं लगाने के साथ अन्य प्रयास विभाग को करने पड़ेंगे। तब कहीं कोर्स पूरा हो पाएगा।

विद्यार्थियों की अध्यापन संबंधी समस्याओं और विषयों से जुड़ी कठिनाइयां दूर करने के लिए निदानात्मक कक्षाएं लगाने के साथ ही अब रविवार को भी सरकारी स्कूल खोलने की बात की जा रही है। लोक शिक्षण आयुक्त जयश्री कियावत ने प्राचार्यों को निर्देश जारी कर कहा कि 10वीं एवं 12वीं कक्षाओं का कोर्स दिसंबर तक पूरा हो जाए। इसके लिए स्कूलों का समय बढ़ाया जाए या फिर आवश्यकता लगने पर रविवार को भी स्कूल खोले जाएं। निर्देशों के पालन में स्कूलों का समय बढ़ाने की कवायद तो की जा सकती है किंतु रविवार को स्कूल खोले जाएं इसकी उम्मीद कम ही हैं।

रिवीजन के लिए मिल सकेगा पर्याप्त समय

दिसंबर तक कोर्स पूरा कराने के पीछे की शासन की मंशा है कि कोर्स पूरा हो जाएगा तो विद्यार्थियों को रिवीजन के लिए पर्याप्त समय मिल सकेगा। दिसंबर माह के आखिर तक कोर्स पूरा न होने पर अलग से ऐसे शिक्षकों की सूची बनाई जाएगी और उनके खिलाफ कार्रवाई भी की जा सकती है। दरअसल इस बार बारिश के कारण कई दिनों तक स्कूलों का संचालन प्रभावित भी हुआ। निर्देश में कहा गया कि प्रतिवर्ष मौसम की विपरीत परिस्थितियों की वजह से छुट्टियां ज्यादा हो जाती है। ऐसे में कोर्स पूरा नहीं हो पाता है। इसलिए इस सत्र में दिसंबर में ही कोर्स पूरा कर लिया जाए। ताकि अचानक छुट्टी होने की स्थिति में छात्रों का कोर्स न पिछड़े और रिवीजन के लिए भी पर्याप्त समय मिल सके।

रेशु जैन
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned