MP में फिर दोहराया हमारी भूल कमल का फूल, इस बार शादी का कार्ड बना जरिया, पढ़ें पूरी खबर

MP में फिर दोहराया हमारी भूल कमल का फूल, इस बार शादी का कार्ड बना जरिया, पढ़ें पूरी खबर

Rajesh Kumar Pandey | Publish: Jan, 14 2018 12:13:27 PM (IST) Sagar, Madhya Pradesh, India

सागर जिले की देवरी तहसील का मामला।

सागर/देवरीकलां.भाजपा से रूठे लोग किस हद तक जाकर अपना विरोध दर्ज करा सकते हैं, इसके अनेक नमूने तो हम देख चुके हैं। लेकिन हमारी भूल कमल का फूल अब तक का सबसे चर्चित विरोध करने का तरीका रहा है। इस विरोध को नयापन देते हुए इस बार शासकीय सेवा से हटाए एक कर्मचारी ने अपना विरोध दर्ज कराया है। शासकीय सेवा से हटने के बाद अब एक व्यक्ति ने अपनी बहन की शादी तो कार्ड छपवाया है वह इन दिनों चर्चा का विषय बना हुआ है। दरअसल, निमंत्रण पत्रिका पर ही उसने अपनी पीड़ा व्यक्त करते हमारी भूल, कमल का फूल का प्रकाशन करा दिया है। यह शादी भले ही कुछ दिन बाद होगी, लेकिन इसका शादी का कार्ड अभी से चर्चाओं में बना हुआ है। सोशल मीडिया पर भी यह काफी प्रचारित हो रहा है। इसे लेकर भाजपा-कांग्रेस भी सागर में एक बार फिर आमने-सामने हो गई है और अनेक प्रकार की प्रतिक्रियाएं सामने आने लगी है। जबकि मप्र और सागर की राजनीति में भूचाल मचाने वाला यह शादी का कार्ड छपवाने वालों की अपनी अलग पीड़ा है।

 

om
Rp4L IMAGE CREDIT: Rp4L

भाजपा के विरोध में नायाब तरीका

शासकीय सेवा से हटाए एक कर्मचारी ने भाजपा के विरोध में नायाब तरीका खोजा है। उसने अपनी बहन की शादी के कार्ड में 'हमारी भूल कमल का फूल' लिखवाकर विरोध जताया है। कार्ड को लेकर जिलेभर में चर्चा है और वाट्सएप ग्रुपों में वायरल हो रहा है। दरअसल, देवरी तहसील निवासी अनुराग जैन मलेरिया विभाग में राहतगढ़ में एमपीडब्ल्यू के पद पर संविदा कर्मचारी के रूप में कार्यरत थे। पिछले दिनों विभाग ने एमपीडब्ल्यू पद से 473 कर्मियो को हटाया है। इनमें अनुराग भी शामिल
है। अनुराग ने बताया कि 2010 में हम जैसे 473 नौजवानों की एमपीडब्ल्यू पद पर नौकरी लगी थी, लेकिन जून 2017 में हम सभी को अब नौकरी से हटाकर बेरोजगार कर दिया। हमारे पास अब कोई काम नहीं है।

 

युवाओं को छल रही सरकार : कांग्रेस
पूर्व मंत्री सुरेंद्र चौधरी ने कहा कि प्रदेश की सत्ता पर काबिज भाजपा युवाओं को छलती आ रही है। उनका शोषण हो रहा है। एक तरफ मुख्यमंत्री बेटियों को भांजी बताते हैं, दूसरी तरफ भांजी की शादी के वक्त भाई बेरोजगार है। ऐसी स्थिति में सरकार को चाहिए कि वह आगे आए और पीडि़त परिवार की मदद करे।

 

भाजपा सरकार बनवाकर की भूल
सात साल तक सेवा देने के बाद अब हम लोग किसी और काम के लायक नहीं बचे। हम लोगों ने कई बार भोपाल जाकर न्याय की गुहार लगाई, लेकिन कुछ नहीं हुआ। हमें लगता है कि कमल के फूल की सरकार बनाकर हमने कोई भूल की है। इसी के विरोध में हमने कार्ड में 'हमारी भूल कमल का फूल' छपवाया है। अनुराग की मां अनिता बड़कुल (जैन) ने बताया कि बेटा बेरोजगार हो गया। बेटी की शादी है। एेसे में हम क्या करें। कमल के फूल को वोट देकर हमने गलती की है। यह पूछने पर कि शादि की व्यवस्था किस तरह की, अनिता का कहना था कि खेती की जमीन गिरवी रखकर लोन लिया है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned