हूटर बजते ही रेलवे में मचा हड़कंप

दस नंबर गेट पर ट्रेक्टर-ट्रॉली टकराने की मिली थी सूचना

By: anuj hazari

Published: 10 Feb 2018, 09:00 AM IST

बीना. शुक्रवार की दोपहर करीब तीन बजे अचानक रेलवे स्टेशन पर पांच हूटर बजे। हूटर बजते ही रेलवे अधिकारी, कर्मचारी एलर्ट हो गए। क्योंकि पांच हूटर बजने का मतलब पैसेंजर गाड़ी कहीं टकराना होता है। जल्द से जल्द मेडिकल वाहन रवाना किया गया। मेडिकल वाहन रवाना होने के बाद अधिकारियों ने सूचना दी कि दस नंबर रेलवे गेट पर मॉक ड्रिल की जा रही है, तब कहीं जाकर सभी ने राहत की सांस ली।
कंजिया-मुंगावाली रोड स्थित बीना-गुना लाइन के रेलवे गेट क्रमांक दस के गेटमेन मनोज कुमार ने 14.45 बजे कंट्रोल रुम सूचना दी कि पैसेंजर ट्रेन से गेट पर ट्रेक्टर-ट्रॉली टकरा गई है, जिसमें एक दर्जन से ज्यादा लोगों की मौत हो गई। इसकी सूचना मिलते ही हूटर बजाकर अधिकारी, कर्मचारियों को एलर्ट किया और गंतव्य के लिए मेडिकल वाहन रवाना किया गया। बीना और गुना से मेडिकल वाहन गेट के लिए पंद्रह मिनट में निकल गए थे। मेडिकल वाहन निकलने के कुछ देर बाद सूचना दी गई कि गेट पर मॉक ड्रिल कर तैयारियां देखी जा रही हैं। गेट पर पहले से ही संरक्षा अधिकारी भोपाल ममलेश यादव, संरक्षा सलाहकार अतुल जतारिया, लोको संरक्षा सलाहकार रुस्तम सिंह, एके शर्मा आदि उपस्थित थे। उन्होंने बताया कि घटना के दौरान अधिकारी, कर्मचारी कितने तैयार हैं यह देखने के लिए मॉक ड्रिल की जाती है। यहां मॉक ड्रिल सफल रही और सभी अधिकारी, कर्मचारी तत्परता दिखाते हुए मौके पर पहुंच गए थे। हालांकि घटना की सूचना मिलने के बाद किसी भी कर्मचारी ने लापरवाही नहीं दिखाई।
108, सिविल पुलिस पहुंची मौके पर
घटना की सूचना रेलवे के अलावा सिविल पुलिस और 108 को भी दी गई थी। जिसपर सिंरचौपी चौकी पुलिस मौके पर पहुंच गई थी और 108 एंबुलेंस भी कुछ देर बाद ही वहां पहुंच गई थी। जानकारी लगने के बाद रेलवे के अन्य विभागों के कर्मचारी भी गेट पर पहुंच गए थे।

anuj hazari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned