इंदिरा गृह ज्योति योजना के हितग्राहियों के यहां चैकिंग में मिले हीटर, योजना से किया जाएगा बाहर

बिजली कंपनी की सख्ती, हीटर व एसी मिला तो योजना से किया जाएगा बाहर, योजना से जुड़े हितग्राही कर रहे बिजली का दुरुपयोग, एक-एक कनेक्शन के लोड की होगी चैकिंग।

 

सागर. बिजली कंपनी ने लगातार बढ़ते लोड और लाइन लॉस को कंट्रोल करने के लिए लंबे समय बाद एक बार फिर से शहर में सख्ती के साथ कार्रवाई करना शुरू कर दिया है। कंपनी ने इसकी शुरूआत इंदिरा गृह ज्योति योजना के कनेक्शनों की जांच से की है। कंपनी के अधिकारियों का कहना है कि शहर में योजना में शामिल किए गए शहर के सभी उपभोक्ताओं के लोड की चैकिंग की जाएगी, इस दौरान यदि किसी के यहां हीटर या एसी चलता मिला तो उसे योजना से बाहर करने के लिए प्रस्ताव तैयार की कंपनी के मुख्यालय भेजा जाएगा। बीते दो दिनों से चल रही इस चैकिंग में शहर के शनीचरी व शुक्रवारी क्षेत्र में करीब दो दर्जन उपभोक्ताओं के यहां हीटर चलने की पुष्टि भी जांच में हो चुकी है।

शनीचरी व शुक्रवारी में मिले हीटर

बिजली कंपनी से मिली जानकारी के अनुसार बीते दो दिन में शहर के करीब तीन सौ से ज्यादा कनेक्शन के लोड चैक किए गए हैं। इसमें शनीचरी व शुक्रवारी क्षेत्र में सबसे ज्यादा उपभोक्ताओं के यहां बढ़े हुए लोड पाए गए और हीटर चलने की पुष्टि हुई। कंपनी के अधिकारियों का कहना है कि अभी तक दो दर्जन से ज्यादा एेसे उपभोक्ता चिन्हित किए गए हैं, जिनके यहां हीटर का उपयोग किया जा रहा था।

योजना से जुड़े लोग कर रहे बिजली का दुरुपयोग

सरकार की इंदिरा गृह ज्योति योजना के तहत यदि एक माह की खपत 100 यूनिट तक है तो उसे 100 रुपए का ही बिजली बिल दिया जाएगा, लेकिन शहर में हजारों एेसे उपभोक्ता है जो योजना से जुडऩे के बाद बिजली का दुरुपयोग कर रहे हैं और घर में हीटर-एसी का उपयोग कर रहे हैं। कंपनी ने एेसे ही उपभोक्ताओं को चिन्हित करने के लिए मुहीम चलाई है। बताया जा रहा है कि हीटर चलते पाए जाने पर योजना से तो बाहर करते हुए ब्लैक लिस्टेड की कार्रवाई के साथ पेनाल्टी भी लगाई जाएगी।

मुख्यालय प्रस्ताव भेजा जाएगा

शहर में अभी करीब तीन सौ कनेक्शन चैक हुए हैं, जिसमें से दो दर्जन उपभोक्ताओं के यहां हीटर चलने की पुष्टि हुई है। हीटर चलाने वाले लोगों को योजना से बाहर करने जबलपुर मुख्यालय प्रस्ताव भेजा जाएगा। एक-दो दिन में चैकिंग में और तेजी आएगी।

एसके सिन्हा, कार्यपालन अभियंता, शहर

मदन गोपाल तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned