नहीं आते सचिव, सुरक्षा गार्डों के भरोसे चल रही मंडी

कार्यालय में डला रहता है ताला

By: sachendra tiwari

Published: 16 May 2020, 09:17 PM IST

प्रशांत सोलंकी @ बीना/मंडीबामोरा. क्षेत्र के किसानों के लिए मंडीबामोरा कृषि मंडी सबसे ज्यादा करीब है, लेकिन यहां अधिकारी के न रहने से अव्यवस्थाएं फैली हैं और आने वाले किसानों को परेशान होना पड़ता है।
सचिव के न आने से सुरक्षा गार्डों के भरोसे डाक व कार्यालय संबंधी महत्वपूर्ण कार्य किए जा रहे हैं और इसमें गडबड़ी का अंदेशा रहता है। इसी के चलते अधिकांश किसान गंजबासोदा व खुरई मंडी में अपना अनाज बेचने जाते हैं जो किसान मजबूरी में यहां आते भी हैं तो सही दाम नहीं मिलते हैं। साथ ही मंडी में किसानों को छांव, ठंडा पानी तक नसीब नहीं होता। जानकारी के अनुसार सचिव मंडीबामोरा में निवास करने की बजाए बीना से अपडाउन करते हैं। लॉकडाउन में आवागमन के साधन बंद है ऐसे में उनका मंडीबामोरा कम ही आना हो रहा है। वह बीना में मंडी का काम होने का कहकर रुक जाते हैं या फिर दोपहर बाद आते हैं। इस दौरान सहायक उपनिरीक्षक गुलाबसिंह धुर्वे व तृतीय वर्ग कर्मचारी मनीष अग्निहोत्री व्यवस्था संभालते हैं।
परिसर में घूमते रहते हैं असामाजिक तत्व
कई लोगों ने मंडी को जुआ खेलने और नशा करने का अड्डा बना रखा है। आधी रात तक लोग परिसर में बेवजह जमे रहते हैं। विगत दिनों एसडीएम अमृता गर्ग ने खरीदे गए अनाज की फिर से तौल कराई तो बोरी में कम अनाज निकला था। जिस पर उन्होंने नाराजगी जाहिर की। क्योंकि यहां मवेशी का जमावड़ा बना रहता है।
काम से रुक जाते हैं बीना
मुझे बीना व मंडीबामोरा दोनों जगह का काम देखना पड़ता है। कभी कंप्यूटर सुधरवाने, केशबुक लिखवाने, कागज लाने का आदि कामों से बीना रुकना पड़ता है। साथ ही गाड़ी चलाना नहीं आता है, कोई साधन मिलता है तो आ जाते हैं।
राजेन्द्र मौर्य, सचिव, कृषि मंडी मंडीबामोरा
करेंगे कार्रवाई
औचक निरीक्षण कर मंडी में व्याप्त अव्यवस्थाओं की जांच की जाएगी। इसमें सचिव या किसी भी कर्मचारी की लापरवाही सामने आती है तो कार्रवाई करेंगे।
सुरेश कुर्मी, उप संचालक, मंडी बोर्ड

sachendra tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned