फर्जीवाड़ा, सहकारी समितियों ने भूमिहीन व मृत किसानों के नाम पर भी बना दिए केसीसी

पलोह के बाद केसली क्षेत्र की तीन और सहकारी समितियों में सामने आया गोलमाल, मृत और भूमिहीन किसानों के नाम पर भी निकाली राशि, बैंक के कोरे निकासी पत्रक और नेफ्ट फार्म पर कराए हस्ताक्षर

सागर. जिले के केसली क्षेत्र में सहकारी समितियों द्वारा किसानों के साथ फर्जीवाड़े रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। क्षेत्र की पलोह समिति के बाद अब किसानों के नाम पर फर्जी किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) बनाने के नए मामले मुहली, बम्हौरी और सहजपुर समितियों के सामने आए हैं। इन समितियों के तहत आने वाले भूमिहीन और मृत हो चुके किसानों के नाम पर भी केसीसी बनाकर लाखों रुपए का गोलमाल किया है। इसमें कहीं समितियों के जिम्मेदारों द्वारा तो कहीं पर केसली स्थित सहकारी बैंक की शाखा द्वारा फर्जीवाड़े करने की बात सामने आई है। किसानों के साथ हुए इस फर्जीवाड़े के दोषियों पर आपराधिक मामला दर्ज करने के लिए सहकारिता विभाग के साथ कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक से भी शिकायत की गई है।

तीन समितियों के 55 किसानों से फर्जीवाड़ा
मुहली, बम्हौरी और सहजपुर समितियों के 55 किसानों के नाम फर्जीवाड़ा होने की शिकायत की गई है। शिकायत में बताया गया है कि मृत किसान गोविंद रैकवार के नाम पर केसीसी बनाकर राशि निकाली गई है। इसके अलावा पार्वती पत्नी डेलनसिंह, राजेश पुत्र महेश शर्मा और सुनील पुत्र बहादुर एेसे किसान हैं जिनके नाम पर जमीन न होने के बाद भी किसान क्रेडिट कार्ड बनाकर लाखों रुपए की राशि निकाले जाने की शिकायत की गई है।

कोरे फार्म पर हस्ताक्षर कर निकाली राशि
सहजपुर सहकारी समिति के तहत आने वाले ऊंटकटा गांव निवासी अर्जुन सिंह राजपूत ने बताया कि उन्होंने दिसंबर 2019 में 90 हजार रुपए का किसान क्रेडिट कार्ड बनवाया था। इसके बाद जब केसली में सहकारी बैंक शाखा में राशि निकालने गए तो उनसे बोला गया कि रुपए नहीं है। दूसरे बैंक में नेफ्ट के जरिए दूसरे बैंक अकाउंट में रुपए ट्रांसफर करने का बोलते हुए बैंक अधिकारियों ने कोरे निकासी पत्रक और नेफ्ट फार्म पर हस्ताक्षर करा लिए। इसके बाद खाते से रुपए तो निकल गए, लेकिन खाते में नहीं आए हैं। इसको लेकर बैंक अधिकारियों से जब पासबुक पर एंट्री कराना चाही तो उससे भी मनाही कर दी गई। अर्जुन ने बताया कि उनके अलावा उनके बेटे राजा राजपूत सहित महें राजपूत, रामरानी राजपूत, सियारानी राजपूत के अलावा सहजपुर निवासी बल्देव लोधी के साथ भी मेरे जैसा ही फर्जीवाड़ा किया गया है।

जांच के लिए आदेश किए हैं
किसानों के साथ हुए फर्जीवाड़े की शिकायत मिलने के बाद जांच के लिए टीम गठित कर आदेश जारी कर दिए गए हैं। जांच प्रतिवेदन मिलने के बाद दोषियों पर एफआइआर दर्ज कराने की कार्रवाई की जाएगी।
शिव प्रकाश कौशिक, सहकारिता उपायुक्त

मदन गोपाल तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned