खिमलासा सेंट्रल बैंक का मैनेजर रिश्वत लेते धराया, जानिए कितनी रकम मांगी थी

दो हजार रुपए में तय हुई थी बात, किसान एक हजार दे चुका था

By: manish Dubesy

Published: 25 Apr 2018, 03:40 PM IST

बीना/सागर. सागर लोकायुक्त की टीम ने मंगलवार को सेंट्रल बैंक की खिमलासा शाखा के मैनेजर को किसान से रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया। मैनेजर ने क्षेत्र के एक किसान से किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) की लिमिट बढ़ाने के एवज में दो हजार रुपए की रिश्वत मांगी थी, जिसके बाद किसान ने एक हजार रुपए खाते से ट्रांसफर करा भी दिए थे। शेष राशि मंगलवार को देने की बात हुई थी, लेकिन इसी बीच मैनेजर की मनमानी की शिकायत किसान ने लोकायुक्त में कर दी थी। मंगलवार की दोपहर १२.३० बजे जैसे ही ग्राम सुनेटी निवासी किसान हुकम अहिरवार बैंक पहुंचा और उसने मैनेजर जगदीश चंद्र जाट को एक हजार रुपए दिए तो लोकायुक्त टीम ने दबिश दे दी। मैनेजर को हिरासत में लेकर टीम सागर लाई।

भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत की कार्रवाई
लोकायुक्त डीएसपी राजेश खेड़े ने बताया कि किसान ने आवेदन दिया था, जिसकी जांच के बाद मंगलवार को कार्रवाई की गई और मैनेजर को किसान से रुपए लेते रंगेहाथ पकड़ा गया है। मैनेजर के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत कार्रवाई की जा रही है। टीम में आरक्षक अरविंद नायक, सोनू तिवारी, नीलेश पांडे, शैलेन्द्र, मनोज कोरकू शामिल थे।

 

किसान ने १३ अप्रैल को शिकायत की थी
फरियादी किसान हुकम अहिरवार की केसीसी लिमिट १ लाख ३२ हजार थी। वह लिमिट में ४२ हजार रुपए और बढ़वाना चाहता था। लेकिन बैंक मैनेजर से किसान को लगातार परेशान कर रहा था। जिसके बाद रुपए लेकर लिमिट बढ़ाने की बात हुई थी। इसके बाद मैनेजर ने किसान क्रेडिट कार्ड की लिमिट भी बढ़ा दी थी।

गौरतलब कि सरकार की सख्ती के बाद भी सरकारी कर्मचारियों पर नकेल नहीं कसी जा सकी है। हर विभाग में रुपए का खुला लेन देन होता है, इससे गरीब आदमी परेशान हो जाता है। कुछ ही लोग साहस कर इसका खुलासा करते हैं। इस तरह के लोगों के सामने आने से भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने में आसानी होती है।

manish Dubesy Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned