पीलिया से हुईं मौत का मामला : मौत की वजह जानने अब ऑडिट कराने की तैयारी

पीलिया से हुईं मौत का मामला : मौत की वजह जानने अब ऑडिट कराने की तैयारी

Sanket Shrivastava | Publish: May, 27 2018 01:39:34 PM (IST) Sagar, Madhya Pradesh, India

बीएमसी डीन ने सीएमएचओ को सौंपी जांच रिपोर्टं

सागर. मकरोनिया के दुर्गानगर व शंकरगढ़ इलाके में पीलिया से हुईं १४ मौतों की वजह जानने के लिए स्वास्थ्य विभाग मृतकों का डेथ ऑडिट कराएगा। पीएसएम (प्रिवेंटिव सोशल मेडिसिन विभाग) द्वारा सौंपी गई रिपोर्ट के बाद डीन डॉ. जीएस पटेल ने
डेथ ऑडिट के संकेत दिए हैं। उन्होंने यह रिपोर्ट सीएमएचओ को भेज दी है। जिसमें कहा गया है कि ऑडिट के लिए कमेटी बनाकर जांच कराई जाए। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अधिकांश मौतें उपचार के दौरान बरती गई लापरवाही से हुई हैं। इनमें एक निडिल का कई बार कई मरीजों के लिए इस्तेमाल किए जाने की बात सामने आ रही है।

सागर से भोपाल और नागपुर तक जांच
पीलिया से जिनकी मौत हुई है, उनमें अधिकांश मरीजों ने मकरोनिया व शहर के निजी अस्पतालों में तो इलाज कराया ही था, साथ ही भोपाल व नागपुर में भी इलाज हुआ है। इसी को लेकर अब स्वास्थ्य विभाग द्वारा गठित विशेषज्ञों की टीम कारण जानने जल्द ही मकरोनिया सहित शहर के अस्पताल और भोपाल व नागपुर के उन अस्पतालों के दस्तावेज खंगालेगी, जहां बीमारी के दौरान लोगों ने उपचार
कराया था।

इसलिए डेथ ऑडिट

पीएसएम विभाग ने मौत का कारण जानने शुक्रवार को रिपोर्ट तैयार कर डीन डॉ. पटेल को सौंपी थी, लेकिन लोगों का पोस्टमार्टम न होने के कारण असली वजह पता नहीं चल पा रही है। यही वजह है कि अब विस्तृत जांच की तैयारी की जा रही है।

पांच दिन में 382 मरीजों की जांच

स्वास्थ्य विभाग ने पीलिया से मौतों के बाद मकरोनिया क्षेत्र में वजह जानने और अन्य पीडि़तों की तलाश को लेकर सर्वे तो किया ही, साथ ही पांच दिन तक नगर पालिका क्षेत्र में अलग-अलग शिविर लगाकर लोगों का परीक्षण भी किया। इस दौरान ८८२ मरीजों की जांच व २७३ का टीकाकरण किया गया।

& पीएसएम के विशेषज्ञों द्वारा सौंपी गई रिपोर्ट का अवलोकन करके उसे सीएमएचओ को सौंप दिया है। मौत की वजह जानने के लिए डेथ ऑडिट कराने की बात की गई है। इससे असली वजह सामने आने की उम्मीद है। -डॉ. जीएस पटेल, डीन, बीएमसी

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned