thagi, loot, chori : पीला कपड़ा, सोने की चूडिय़ां... बैग पर मारा झपट्टा और गले से चेन गायब

यहां के लोग न तो घर में सुरक्षित हैं और न ही बाहर। सुबह हो या भरी दुपहरी या फिर रात वृद्ध व महिलाएं बदमाशों के निशाने पर हैं।

सागर. पुलिस की सुस्ती ने बदमाशों को बेखौफ कर दिया है और अब वे दिनदहाड़े स्नेचिंग-लूट और ठगी की वारदातों को अंजाम देने लगे हैं। पुलिस के रिकार्ड में दर्ज अपराध के आंकड़े पुलिस चौकसी की स्थिति पर ही सवालिया निशान लगा रहे हैं। लूट-चोरी की वारदातों ने सागर और दमोह के लोगों में सुरक्षा को लेकर भय पैदा किया है। दर्ज अपराधों में पुलिस आधे से ज्यादा मामलों में आरोपियों की पहचान नहीं हो पा रही है फिर माल की बरामदगी का सवाल बेकार है।
लूट, चोरी, ठगी जैसे अपराधों पर पिछले दिनों क्राइम मीटिंग में एसपी ने भी चिंता जताई थी लेकिन उसके बावजूद संपत्ति संबंधी अपराध, लूट-चोरी पर अंकुश नहीं लग रहा है। वारदातों के बाद कुछ दिन तक पुलिस की सक्रियता के साथ पड़ताल भी जारी रहती है लेकिन फिर समय बढऩे के साथ-साथ हौसले पस्त पड़ जाते हैं। तीन महीनों में शहरी क्षेत्र में चोरी, ठगी की वारदातों से जहां आम लोगों में संपत्ति की चिंता बढ़ी है वहीं पुलिस भी आरोपियों तक पहुंचने की जुगत लगाते-लगाते हड़बड़ाई हुई है।

महिला से ठगी
2 सितम्बर को दोपहर के समय मनोरमा कॉलोनी में चाहत बरलानी घर में अकेली थीं। इस दौरान दो किन्नर भेंट मांगते हुए पहुंचे और बरलानी को अकेला देख उन्हें अंधविश्वास के झांसे में लिया। घर-परिवार पर ऊपरी बला का फेर बताकर भयभीत किया और बला को दूर करने पीला कपड़ा व सोने की चूडि़यां मांगी और उन्हें पूजा कक्ष में भेजकर गायब हो गए।

सराफा व्यापारी से लूट
7 सितम्बर की रात 10 बजे मेडिकल कॉलेज में सामने स्थित सराफा दुकान संचालक सुनील सोनी जेवर बैग में लेकर घर लौट रहे थे। वे संजय ड्राइव से कुछ दूर थे तभी पीछे से आए बाइक सवार बैग झपटकर भाग निकले। जिस जगह वारदात को अंजाम दिया गया उससे सौ फीट दूर संजय ड्राइव पर पाइंट लगता है लेकिन जब बदमाश भाग रहे थे तब किसी ने ध्यान नहीं दिया।

वृद्धा से चेन स्नेचिंग
23 अगस्त को कनेरा गौंड से 70 वर्षीय कृष्णा जैन काम के सिलसिले में सागर आई थीं। राहतगढ़ बस स्टैंड के पास वे एक दुकान पर खरीदारी करने रुकी और अपने दामाद का इंतजार करने लगीं। दो युवक उनके पास पहुंचे और अचानक दौड़ पड़े। पहले तो महिला कुछ समझी नहीं लेकिन जब गले पर हाथ गया वे मदद के लिए चीखीं लेकिन तब तक युवक रेलवे गेट पार कर गायब हो चुके थे।

पुलिस वारदातों को अंजाम देकर गायब हुए बदमाशों की तलाश में जुटी है। वारदातों में जो वृद्धि हुई है, उससे निपटने के लिए विशेष कार्ययोजना तैयार कर रहे हैं, जल्द ही सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे।
विक्रम सिंह, सीएसपी

Show More
रविकांत दीक्षित
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned