scriptफूलों के रथ पर सवार होकर निकलेंगे भगवान जगन्नाथ, जगह-जगह भक्त करेंगे रथयात्रा का स्वागत | Patrika News
सागर

फूलों के रथ पर सवार होकर निकलेंगे भगवान जगन्नाथ, जगह-जगह भक्त करेंगे रथयात्रा का स्वागत

आषाढ़ माह के शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि 7 जुलाई रविवार को विभिन्न मंदिरों से भगवान जगन्नाथ एवं राधा-कृष्ण की रथयात्रा निकलेगी।

सागरJul 06, 2024 / 11:41 am

रेशु जैन

bhagwan jagannath

bhagwan jagannath

100 वर्षों से अधिक प्राचीन रथों में निकलेंगे भगवान, मालपुआ की प्रसादी का होगा वितरण

सागर. आषाढ़ माह के शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि 7 जुलाई रविवार को विभिन्न मंदिरों से भगवान जगन्नाथ एवं राधा-कृष्ण की रथयात्रा निकलेगी। ज्येष्ठ पूर्णिमा पर अभिषेक स्नान के बाद जगत के स्वामी की तबीयत खराब हो गई थी। 7 जुलाई को वे स्वस्थ होने के बाद शाम को बड़े भाई बलराम और बहन सुभद्रा के साथ रथ में सवार होकर नगर भ्रमण पर निकलेंगे। शहर के मंदिरों में रथयात्रा की तैयारी की जा रही है।मंदिरों में रथों को सजाया जा रहा है। करीब 100 वर्षों से अधिक पुराने रथों में यात्रा निकाली जाती है। बड़ा बाजार स्थित रामबाग मंदिर, बिहारीजी मंदिर, देव राधा माधवलाल गेड़ाजी मंदिर, चकराघाट स्थित धनुषधारी मंदिर, केशवगंज वार्ड स्थित राधा कृष्ण मंदिर, वृंदावन बाग मंदिर,साहू समाज एवं सत्यनारायण मंदिर सहित विभिन्न मंदिरों से भगवान रथ में निकलते हैं।
नई पोशाक धारण करेंगे बिहारीजी

बड़ा बाजार स्थित देव अटल बिहारी मंदिर से रथ दोज पर बिहारी जी सरकार रथ पर सवार होकर नगर भ्रमण के लिए निकलेंगे। भगवान का अभिषेक पूजन कर नई पोशाक धारण कराई जाएगी। इसके बाद स्वर्ण रजत आभूषणों से शृंगार कर रथ में विराजमान किया जाएगा। रथ यात्रा मंदिर परिसर से शुरू होकर मुख्य मार्गों से होती हुई तीनबत्ती जाएगी। यहां से वापस मंदिर परिसर में आकर समाप्त होगी।
1 क्विंटल फूलों से सजेगा वृंदावन बाग में रथ

गोपालगंज स्थित वृंदावन बाग मठ से परंपरागत तरीके से भगवान की रथयात्रा निकाली जाएगी। मंदिर के महंत नरहरिदास ने बताया कि रथयात्रा शाम 4 बजे से शुरू होगी। 1 क्विंटल गुलाब और गेंदे के फूलों से रथ को सजाया जाएगा। रथयात्रा में वृंदावन एवं मथुरा से संतों का जत्था शामिल होगा। जो मंदिर परिसर में एकत्रित होने लगा है। प्राचीन अखाड़ा यात्रा के दौरान कौशल का प्रदर्शन करते हुए चलेगा। रथ के साथ 21 फीट की ध्वजा साथ चलेगी । यात्रा समाप्ति के बाद आरती कर मूंग की दाल, गुड़ एवं फलों का प्रसादी के रूप में वितरण होगा। मूंग दाल का भोग वर्षों से लगता चला आ रहा है।
रामबाग मंदिर में शुरु हुई तैयारी

बड़ा बाजार के प्राचीन रामबाग मंदिर से रथयात्रा निकाली जाती है। महंत घनश्याम दास महाराज ने बताया कि रथ को फूलों से सजाया जाएगा। भगवान जगन्नाथ फूलों से सजे रथ में सवार होकर निकलेंगे। रथयात्रा मंदिर से शाम को 5 बजे से शुरू होगी। मंदिर से मोतिनगर, राहतगढ़ बस स्डैण्ड, विजय टॉकिज, कटरा, तीनबत्ती से होकर बड़ा बाजार पहुंचेगी। इसके बाद मोहन नगर वार्ड में सचिन सोनी के निवास पर रथयात्रा एक दिन के लिए रूकेगी। यहां भव्य स्वागत के बाद भंडारा होगा। रथयात्रा वापस 8 जुलाई शाम को मंदिर पहुंचेगी। मंदिर में 50 किलो मालपुआ का भोग लगाकर भक्तों को प्रसादी वितरित की जाएगी।

Hindi News/ Sagar / फूलों के रथ पर सवार होकर निकलेंगे भगवान जगन्नाथ, जगह-जगह भक्त करेंगे रथयात्रा का स्वागत

ट्रेंडिंग वीडियो