बाजार बैठकी में बढ़ाए 15 लाख, बीएलसी की किश्त में भी इजाफा

बाजार बैठकी के मामले में आखिरकार टूट ही गई जिम्मेदारों की नींद

By: manish Dubesy

Published: 25 Apr 2018, 02:18 PM IST

सागर. वित्तीय वर्ष २०१८-१९ की बाजार बैठकी के टेंडर में नगर निगम के जिम्मेदारों ने लाखों रुपए के घाटे की मंशा बना ली थी, लेकिन पत्रिका के सिलसिलेवार खुलासे ने यह कारनामा नहीं होने दिया। मंगलवार को आयोजित एमआइसी में १५ लाख रुपए के घाटे को रिकवर करने की दिशा में काम किया गया।


महापौर अभय दरे ने खुद बाजार बैठकी के टेंडर में उच्चतम बोली लगाने वाली एजेंसी से चर्चा की और एजेंसी 71 लाख 25 हजार रुपए में ठेका लेने राजी हो गई। जारी वित्तीय वर्ष के लिए सबसे ज्यादा ५७ लाख रुपए की बोली लगाई गई थी, जबकि पिछले वित्तीय वर्ष का बाजार बैठकी ठेका 72 लाख 54 हजार 479 रुपए में दिया गया था। निगम को अब भी सात लाख से ज्यादा राजस्व की हानि हो रही है, लेकिन टेंडर के मुताबिक लगभग १५ लाख रुपए का फायदा भी हुआ है। पत्रिका ने इस मामले को प्रमुखता से प्रकाशित किया था जिसके बाद एमआइसी ने इस मामले में गंभीरता दिखाई है।
एक लाख की दी जाएगी पहली किश्त
एमआइसी में निर्णय लिया गया कि प्रधानमंत्री आवास योजना में हितग्राहियों को अब पहली किश्त 40 हजार रुपए की जगह एक लाख रुपए की दी जाएगी। एमआइसी ने पीएम आवास योजना के बीएलसी घटक के तहत राशि आवंटन के संबंध में मप्र शासन के आदेशानुसार पहले के आदेशों को निरस्त करते हुए राशि बढ़ाने का निर्णय लिया है। इसके बाद पहली व दूसरी किश्त एक-एक लाख रुपए की और तीसरी किश्त में ५० हजार रुपए दिए जाएंगे। महापौर अभय दरे ने कहा कि शासन द्वारा गरीब परिवारों को आवास निर्माण करने के लिए बहुत ही अच्छा निर्णय लिया है, इससे पहली किश्त के मिलने पर आवास बनाने में लोगों को किसी भी प्रकार की परेशानी का सामाना नहीं करना पड़ेगा।
ये रहे मौजूद
बैठक में विनोद तिवारी, जिनेश साहू, नीरज जैन, याकृति जडिय़ा, श्वेता यादव, पुष्पा अहिरवार, नीतू खटीक, उपायुक्त आरपी मिश्रा, डॉ. प्रणय कमल खरे, कार्यपालन यंत्री विजय दुबे, लखनलाल साहू, पूरनलाल अहिरवार, राजेंद्र दुबे, रमेश चौधरी, संजय तिवारी, दामोदर ठाकुर, एसपी धुर्वे, आनंद मंगल गुरू, शरद बरसैंया, सचिन गुप्ता, रामाधार तिवारी, शहीद उद्दीन कुरैशी, अरविंद सोनी सहित अन्य अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।

बैठक में लिए ये बड़े निर्णय
अमृत योजना के तहत छोटी झील के किनारे हरित क्षेत्र व पार्क निर्माण के लिए एमआइसी के 23 फरवरी के प्रस्ताव के अनुसार द्वितीय ऑनलाइन निविदा आमंत्रित की गई, जिसमें श्रीराधे प्रोडक्शन जबलपुर की व काकागंज वार्ड श्मशानघाट में हरित क्षेत्र पार्क निर्माण के लिए टीम लीडर एजिस संचालनालय भोपाल द्वारा डीपीआर की पुष्टि की गई।
प्रधानमंत्री आवास योजना के घटक एएचपी के चयनित 2004 हितग्राहियों की मार्जिन मनी जमा करने के लिए एमआइसी में 23 फरवरी के प्रस्ताव को पुन: एक सप्ताह का समय दिया गया। इस संबंध में कार्यपालन यंत्री विजय दुबे ने बताया कि मात्र 20 हितग्राहियों द्वारा मार्जिन मनी जमा की गई है।
गौरमूर्ति से बताशा वाली गली तक के पूर्व साबूलाल मार्केट में व्यवस्थित हो चुके फुटपाथ दुकानदारों के विस्थापन की जगह चिन्हित कर तैयारी का विषय आगामी बैठक के लिए टाल दिया गया।
एमडी रामदूत सिक्योरिटी एंड डिटेक्टिव सर्विसेज प्रालि को प्लेसमेंट के लिए पूर्व स्वीकृत दरों परअनुबंध के नवीनीकरण को स्वीकृति दी गई।

जागरुकता फैलाने आवारा पशुओं पर निगम ने बनवाई लघु फिल्म
महापौर अभय दरे के निर्देश पर नगर निगम ने यातायात व्यवस्था में बाधक आवारा पशुओं के संबंध में जन-जागरूकता के लिए एक लघु फिल्म का निर्माण कराया है। इसका प्रदर्शन मंगलवार को एमआइसी की बैठक के बाद किया गया। महापौर ने बताया कि आवारा पशु यातायात में बड़े बाधक हैं और मुख्य मार्गों पर बैठे रहते हैं, जिसके कारण आए दिन दुर्घटनाएं होती हैं। नगर निगम पहले से ही आवारा पशुओं को पकडऩे का अभियान चला रही है। ये वे आवारा पशु हैं, जिन्हें पशुपालक सुबह-शाम दूध दुहने के बाद खुला छोड़ देते हैं। उन्होंने कहा कि इसी कारण लोगों में जन जागरूकता के लिए यह लघु फिल्म बनाई गई है।

manish Dubesy Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned