MP Elections 2018 चुनाव को बाहरी नहीं, बल्कि आंतरिक शक्तियां ही प्रभावित करती हैं, जानिए किसने कही यह बात

MP Elections 2018 चुनाव को बाहरी नहीं, बल्कि आंतरिक शक्तियां ही प्रभावित करती हैं, जानिए किसने कही यह बात

Manish Kumar Dubey | Publish: Sep, 09 2018 04:23:49 PM (IST) Sagar, Madhya Pradesh, India

शासकीय कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय में विधानसभा चुनाव के लिए दिया प्रशिक्षण

सागर. भारतीय चुनाव प्रक्रिया दुनिया में सबसे अधिक कार्यप्रणाली वाली प्रक्रिया है और यह कोई एक व्यक्ति के बस की बात नहीं है। चुनाव लोकतंत्र का त्योहार होता है। सभी मास्टर ट्रेनर इसमें आनंद व उत्साह के साथ कार्य करें, जिससे प्रशिक्षित होने वाले भी आनंद को महसूस करें। यह बात जिला निर्वाचन अधिकारी व कलेक्टर आलोक कुमार सिंह ने कही। सिंह शनिवार को शासकीय कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय में आयोजित 130 मास्टर ट्रेनर्स के प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि, मास्टर ट्रेनर्स चुनाव की सबसे मजबूत कड़ी हैं। चुनाव को बाहरी शक्तियां नहीं बल्कि आन्तरिक शक्तियां ही प्रभावित करती हैं। सभी को आत्मबल के साथ कार्य करना है। व्हीव्हीपेट सहित ईवीएम मशीन सौ प्रतिशत टेस्ट के बाद ही चुनावों में जाती है, यह जांच ७ स्तरों पर स्वत: ही करती है। कलेक्टर ने कहा कि दिव्यागों के विषय में एनसीसी एवं एनएसएस के विद्यार्थी आगे आएं और कुछ नया करके दिखाएं।
मॉकपोल के पहले ईवीएम चालू न करें
राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर डॉ. वाइपी सिंह ने कहा कि मॉकपोल से पहले किसी भी पीठासीन अधिकारी को ईवीएम मशीन को चालू करके नहीं देखना हैं। मॉकपोल के समय न्यूनतम ५० मत समान रूप से उपस्थित एजेंटों से डलवाकर मशीन का प्रदर्शन करना है।
डॉ. धीरेन्द्र मिश्रा, सुधीर तिवारी, डॉ. अमर कुमार जैन ने मतदान प्रक्रिया को विस्तार से समझाया। पीएल प्रजापति ने डाक मत-पत्र एवं समस्त प्रोफॉर्मा की जानकारी दी। रमाकांत मिश्रा ने ईवीएम मशीन एवं अन्य प्रपत्रों की सीलिंग को समझाया। उन्होंने कहा कि इस कार्य में सावधानी जरूरी है।
वोट के लालच में भाजपा जाति का जहर घोलकर माहौल को बिगाड़ रही है
एेट्रोसिटी एक्ट के विरोध में भाजपा से इस्तीफा देने वाले पूर्व विधायक लक्ष्मण तिवारी अब एक बार फिर सवर्ण समाज पार्टी में सक्रिय होंगे। शनिवार को सागर आए तिवारी ने पत्रकारों से चर्चा मेंआरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने जनता को धोखा दिया है। उन्होंने कहा कि भारतीय राजनीति में नया मोड़ आया है, समानता का अधिकार की बात करने वाली भाजपा वोट के लालच में जाति का जहर घोलकर माहौल बिगाड़ रही है। हम एसीएसटी एक्ट नही बल्कि केंद्र सरकार द्वारा लाए गए अध्यादेश का विरोध कर रहे हैं। उमा भारती द्वारा बनाई गई भाजश के टिकिट पर 2018 रीवा की मऊगंज विधानसभा से विधानसभा चुनाव जीते तिवारी भाजपा के लिए कार्य कर रहे थे। तिवारी ने १९९४ में सवर्ण समाज पार्टी बनाई थी। उन्होंने बताया कि सवर्ण समाज के लिए उज्जैन से यात्रा प्रारंभ की जो देवास, विदिशा सागर, दमोह, जबलपुर होत हुए 14 सितंबर को रीवा पहुंचेंगे। यहां आयोजित कार्यक्रम में विधिवत सवर्ण समाज पार्टी में शामिल होऊंगा। उन्होंने बताया कि हमारे मुद्दे हैं, जिसमें एससीएसटी एक्ट में संशोधन, आर्थिक आधार पर आरक्षण, किसानों का कर्ज माफ हों आदि शामिल हैं। उन्होंने कहा कि सपाक्स ने सवर्ण के हित के लिए माहौल बनाया है। इस अवसर पर रामरूचि शुक्ला, केके तिवारी, रमाकांत मिश्रा, नीलेश जैन, माहित तिवारी, सुरेंद्र पटैल सहित अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned