scriptमप्र में नर्सिंग कॉलेज के नए 305 पदों पर नहीं हो पाईं भर्तियां | MP in MP | Patrika News
सागर

मप्र में नर्सिंग कॉलेज के नए 305 पदों पर नहीं हो पाईं भर्तियां

नर्सिंग कॉलेज के प्राचार्य-प्राध्यापक सहित प्रदेशभर में स्वीकृत हुए थे 305 नए पद

सागरJun 30, 2024 / 11:29 am

Murari Soni

सागर. प्रदेशभर के मेडिकल कॉलेजों में संचालित हो रहे नर्सिंग कॉलेज अभी भी भर्तियों का इंतजार कर रहे हैं। शासन ने मप्र के 5 बड़े संभागों में नर्सिंग कॉलेज के प्राचार्य-अध्यापक सहित करीब 305 नए पद सृजित किए थे लेकिन भर्तियां न होने का असर नर्सिंग कॉलेज में अध्ययन कर रहे नर्सिंग के हजारों छात्रों को उठाना पड़ रहा है। सबसे ज्यादा समस्या सागर के नर्सिंग कॉलेज में है जहां वर्षों से बीएमसी का नर्सिंग स्टाफ ही कॉलेज का प्राचार्य, वार्डन सहित ट्विटर की जिम्मेदारी संभाल रहा है।सागर सहित भोपाल, जबलपुर, रीवा, ग्वालियर मेडिकल कॉलेज के अधीन चल रहे पांच नर्सिंग कॉलेजों में मरीजों की केयर और नर्सिंग छात्रों की शिक्षा में भी क्वालिटी बढ़ाने शासन ने प्राचार्य-प्राध्यापक के पदों पर भर्तियां निकालीं थीं। उम्मीद दी कि जल्द ही भर्तियां हो जाएंगी लेकिन अभी तक ऐसा होता नहीं दिख रहा है।

बीएमसी के नर्सिंग कॉलेज में इन पदों पर होनी है भर्तियां-

प्राचार्य- 1

उप प्राचार्य- 1

प्राध्यापक- 5

सह प्राध्यापक-7

सहायक प्राध्यापक- 9

ट्यूटर- 38

भर्तियां हों तो यह होंगे फायदे-

-11 नर्सिंग अधिकारी मूल कार्य पर लौटेंगे तो मरीजों की देखभाल बढ़ेगी।-500 से अधिक नर्सिंग छात्रों की पढ़ाई का स्तर बढ़ाया जा सकता है।
-नर्सिंग कॉलेज के विभागीय कार्यों में सुधार होगा।-दो जगह दर्ज नर्सिंग स्टाफ एक जगह आ जाएंगे और नए पद बढ़ जाएंगे।

-बीएमसी के मरीजों की देखभाल की क्वालिटी भी बढ़ेगी।

नर्सिंग की सीटें बढ़ीं लेकिन पद नहीं-

बीएमसी परिसर में 2018 से नर्सिंग कॉलेज संचालित हो रहा है। शुरूआत में नर्सिंग सीटों की संख्या 30 थी। सीटें 2022-23 में बढकऱ 120 हो गईं लेकिन स्टाफ की भर्तियां नहीं हुईं। अब नर्सिंग कॉलेज में एमएससी नर्सिंग की सीटें भी 20 हो गईं हैं। कॉलेज में बीएमसी के नर्सिंग स्टाफ को ही प्राचार्य, प्राध्यापक की जिम्मेदारी दी गई है। बदले में नर्सिंग स्टूडेंट अस्पताल में मरीजों की देखभाल कर रहे हैं, लेकिन अप्रशिक्षित नर्सिंग स्टाफ की शिकायतें लगातार बढ़ रहीं हैं।
-नर्सिंग कॉलेज में नए पद सृजित होने के बाद भर्तियों के लिए यहां से प्रक्रिया पूरी हो गई है। अनुसूचि स्वीकृत होने के लिए गई है। शासन स्तर से भर्तियां होंगी।दीप्ती पांडेय, प्रभारी प्राचार्य नर्सिंग कॉलेज।-जहां तक है प्रदेशभर के नर्सिंग कॉलेज में अभी भर्तियां नहीं हुईं हैं। सब जगह से अनुसूचि मांगी गई थी, जिसे भिजवा दिया गया है। जल्द ही इस पर निर्णय होने की उम्मीद है।
डॉ. पीएस ठाकुर, डीन बीएमसी।

Hindi News/ Sagar / मप्र में नर्सिंग कॉलेज के नए 305 पदों पर नहीं हो पाईं भर्तियां

ट्रेंडिंग वीडियो