नौतपा कल से, गर्मी सताएगी, आंधी-बारिश के भी योग

कल रोहिणी नक्षण में प्रवेश करेगा सूर्य

By: नितिन सदाफल

Published: 24 May 2018, 03:15 PM IST

सागर. इस साल सूर्य 25 मई को रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करेगा। इसी के साथ नौतपा की शुरुआत हो जाएगी, जो २ जून तक चलेंगे। इस दौरान गर्मी चरम पर रहेगी। वहीं ग्रहों के अनुसार नौतपा में इस साल बारिश के योग भी बन रहे हैं।


पंडित शिवप्रसाद तिवारी के अनुसार नौतपा २५ मई को सुबह 6.40 बजे शुरू होंगे और 2 जून की अर्धरात्रि तक रहेंगे। अर्धरात्रि की गणना के हिसाब से यह तारीख 3 जून भी हो सकती है।


हिंदू ग्रंथों के अनुसार ज्येष्ठ मास में सूर्य जब चन्द्रमा प्रधान रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करता है तो उसी दिन से नौतपा शुरू हो जाते हैं। इन 9 दिनों में सूर्य तेजी के साथ ऊर्जा उत्सर्जित करता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि सूर्य और पृथ्वी के बीच की कुछ दूरी इस दौरान कम हो जाती है।

क्यों ज्यादा गर्मी
इस साल सूर्य चन्द्रप्रधान हस्त नक्षत्र की उपस्थिति और मंगल केतु के संयोग में रोहिणी में प्रवेश करेगा। संवत्सर का राजा भी सूर्य ही है, वहीं मंत्री शनिदेव हैं। सूर्य-शनि दोनों ही तीव्र ऊष्मा और वायु का प्रतिनिधित्व करते हैं, इसके चलते इस वर्ष नौतपों में तेज गर्मी के साथ आंधी और बारिश के आने के भी संकेत मिल रहे हैं।

बारिश का योग
पं. रामचरण शास्त्री के अनुसार 22 जून को आद्र्रा नक्षत्र में सूर्य के प्रवेश करते ही वर्षा का योग बनेगा। 22 जून को सूर्य के प्रवेश के समय रवि योग का होना यह संकेत देता है कि इस साल औसत से ज्यादा बारिश होगी। पूरे मानसून में 55 दिन बारिश होने की संभावना है। तूफान व भूकंप जैसी आपदाओं के आने का भी संकेत है।

रात के पारे में आया उछाल
बुधवार को शहर का अधिकतम तापमान ४३.६ डिग्री रहा। वहीं न्यूनतम तापमान २९.१ डिग्री पर पहुंच गया। मंगलवार की रात अब तक की सबसे गर्म रात रही। तेज धूप के बाद शाम ५ बजे छाए बादलों ने गर्मी से थोड़ी राहत दिलाई।
मौसम विभाग ने गुरुवार को सागर संभाग में गरज चमक के साथ हल्की बारिश होने की संभावना जताई है। वहीं दिन में तपने वाली धरती रात में ठंडी नहीं हो पा रही है। इसलिए रात के पारे में उछाल आ रहा है।

नक्षत्रों के हिसाब से मौसम
25 मई हस्तनक्षत्र: उमस भरी गर्मी, शाम को बूंदाबांदी।
26 मई चित्रा नक्षत्र: गर्मी के साथ पारा उछल सकता है।
27 मई स्वाति नक्षत्र: तेज गर्मी
28 मई विशाखा नक्षत्र: सूखी गर्मी पडऩे का पूर्वानुमान।
29 मई अनुराधा नक्षत्र: गर्मी, शाम को आंधी के आसार।
30 मई ज्येष्ठ नक्षत्र: उमस
31 मई मूक नक्षत्र: भीषण गर्मी के साथ शाम को वर्षा।
1 जून मूल नक्षत्र: बारिश।
2 जून पूर्वाषाण नक्षत्र: मध्यम गर्मी के साथ तेज हवा।

सदी का सबसे लंबा पूर्ण चंद्रग्रहण 27 जुलाई को

सागर. जुलाई की 27 तारीख को सदी का सबसे लंबा पूर्ण चंद्रग्रहण दिखाई देगा। यह चंद्रग्रहण पूरे 103 मिनट का होगा। खास बात यह है कि पूरे १०३ मिनट तक ग्रहण को देश भर में देखा जा सकेगा। इस वर्ष का यह दूसरा पूर्ण चंद्रग्रहण होगा। इस वर्ष का पहला पूर्ण चंद्रग्रहण 31 जनवरी को लगा था। जनवरी का पूर्ण चंद्रग्रहण सुपरमून था। यह ग्रहण अफ्रीका, मध्य-पूर्व एशिया, भारत, ऑस्ट्रेलिया और यूरोप के दक्षिणी और पूर्वी हिस्से से ही दिखाई देगा। वैज्ञानिकों के मुताबिक जुलाई का पूर्ण चंद्रग्रहण की लंबाई इतनी अधिक इसलिए होगी क्योंकि चंद्रमा पृथ्वी की छाया के लगभग बीच से होकर गुजरेगा। देश में देखा जा सकने वाला अगला पूर्ण चंद्रग्रहण 3 वर्ष बाद 26 मई 2021 को होगा।

Show More
नितिन सदाफल Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned