मनरेगा में नहीं रोजगार की गारंटी, प्रदेश के 68 लाख परिवारों में से 37 लाख को ही मिला रोजगार

सबसे ज्यादा डिंडोरी में 5643 परिवारों को तो सबसे कम 129 परिवारों को नीमच में मिला 100 दिन का रोजगार, संभाग की स्थिति खराब।

 

सागर. प्रदेश में मनरेगा योजना (महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना) के तहत 68.29 लाख से ज्यादा मजदूर परिवारों में से महज 37.67 लाख हजार परिवारों को ही रोजगार मिल सका है। इस हिसाब से देखें तो प्रदेश के 30.61 लाख परिवारों को रोजगार ही उपलब्ध नहीं कराया गया। कहने के लिए तो योजना के तहत मजदूर परिवारों को एक वित्तीय वर्ष में गारंटी के साथ 100 दिन का रोजगार देना है, लेकिन भारत सरकार के ग्रामीण विकास मंत्रालय की वेबसाइट की माने तो प्रदेश में वित्तीय वर्ष 2018-19 में अब तक महज 63509 परिवारों को ही 100 दिन का रोजगार मिल सका है। इसमें सबसे ज्यादा 5643 हजार परिवारों को 100 दिन का रोजगार देने में डिंडोरी प्रदेश में पहले स्थान पर हैए जबकि 129 परिवारों को 100 दिन का रोजगार देकर नीमच प्रदेश में का सबसे फिसड्डी जिला है। यह तो वे आंकड़े हैं जो पंचायत विभाग द्वारा वेबसाइट पर दर्ज किए गए हैंए जबकि हकीकत इन आंकड़ों से कोसों दूर है।

टीमकगढ़ संभाग में अव्वल
मनरेगा योजना के तहत संभाग के पांचों जिलों में महज 4863 परिवारों को ही 100 दिन का रोजगार मुहैया कराया जा सका है। इसमें सबसे ज्यादा 1875 परिवारों को 100 दिन का रोजगार देकर टीकमगढ़ जिला संभाग में पहले नंबर पर है तो वहीं 588 परिवारों को रोजगार मुहैया कराकर दमोह पांचवे नंबर पर है, जबकि जॉबकार्डधारी परिवारों की बात करें तो संभाग के पांचों जिलों में इनकी संख्या 7.80 लाख से ज्यादा है।

प्रदेश की स्थिति
6829294 कुल जॉबकार्डधारी परिवार।
4479331 ने मांगा रोजागर।
3767767 को उपलब्ध कराया रोजगार।
63509 को मिला 100 दिन का रोजागर।

100 दिन रोजगार देने में प्रदेश के टॉप-5 जिले
डिंडोरी-5643
मंडला-5068
बालाघाट-3502
छिंदवाड़ा-2919
बैतूल-2790

यह है संभाग की स्थिति
जिला, जॉबकार्डधारी परिवार, रोजगार मांगने वाले परिवार, उपलब्ध कराया, 100 दिन
सागर- 233628 151220 117497 930
छतरपुर- 148929 90168 74343 832
टीकमगढ़- 111258 88929 74911 1875
दमोह- 158137 97538 78821 588
पन्ना- 128202 75501 61352 638
टोटल- 780154 503356 406924 4863

नोट- यह आंकड़े भारत सरकार के ग्रामीण विकास मंत्रालय की अधिकृत वेबसाइट के अनुसार हैं।

मदन गोपाल तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned