नगरपालिका में वर्षों से नहीं सेनेटरी इंस्पेक्टर, नहीं होती कार्रवाई

सब्जी, फल सहित अन्य खाद्य सामग्री बिक रही बिना जांच के

By: sachendra tiwari

Published: 03 Mar 2021, 09:22 PM IST

बीना. नगरपालिका में सेेनेटरी इंस्पेक्टर का पद लंबे समय से खाली पड़ा है, जिससे शहर में होटल संचालक, दुकानदार दूषित खाद्य सामग्री बेचने से भी नहीं डर रहे हैं। इसके बाद भी इस पद पर किसी की स्थाई नियुक्ति नहीं की जा रही है। जबकि बीना बड़ा शहर होने के कारण यहां सैकड़ों दुकानों पर खाद्य सामग्री बेची जा रही है।
शहर मे संचालित हो रही किराना दुकान, होटल, जूस सेंटर, फल आदि खाद्य सामग्री वाली दुकानों की जांच करने की जिम्मेदारी खाद्य विभाग या नपा के सेनेटरी इंस्पेक्टर की होती है। कुछ समय से तो मिलावट के खिलाफ मुक्ति अभियान के कारण जिले से खाद्य विभाग की टीम आ रही है, लेकिन अधिकांश कभी कभार ही टीम आ पाती है और कुछ होटलों से ही सैम्पल हो पाते हैं। यदि नपा में सेनेटरी इंस्पेक्टर की नियुक्ति हो जाए तो लगातार कार्रवाई की जा सकती है, लेकिन यहां यह पद कई वर्षों से खाली पड़ा है। जिससे दुकानदार बेखौफ होकर दूषित सामग्री बेचते हैं। किराना दुकानों पर बिकने वाली खाद्य सामग्री की जांच भी सेनेटरी इंस्पेक्टर द्वारा की जाती है। शहर में सड़े फल न बिके इसकी जांच भी नहीं हो पा रही है, जिससे फल विक्रेता खराब फल भी बेच रहे हैं। शहर में कई रेस्टोरेंट के साथ-साथ छोटे-छोटे भोजनालय भी संचालित हो रहे हैं, यहां के कभी भी सैम्पल नहीं लिए जाते हैं कि वहां मिलने वाले खाने में कितनी शुद्धता है, मसाले सही उपयोग किए जा रहे हैं या नहीं। जांच न होने के कारण शहर में लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है।
जगह-जगह खुल रहे जूस सेंटर
गर्मी आते ही शहर में जगह-जगह जूस सेंटर खुल गए हैं। जिसमें सबसे ज्यादा गन्ना के जूस की दुकानें खुली हैं। इनमें कई दुकानें ऐसी हैं, जहां स्वच्छता का ध्यान नहीं रखा जाता है। बगैर छिले, धुले गन्नों का रस निकाला जाता है। साथ ही जूस में बर्फ मिलाया जा रहा है। इस बर्फ की भी जांच नहीं हो रही है कि यह बर्फ खाने लायक हैं या नहीं।
आरआइ, दरोगा का पद भी है खाली
नगरपालिका में महत्वपूर्ण पद आरआइ का भी खाली है और दरोगा भी नहीं है, जिससे इनसे जुड़े हुए काम प्रभावित होते हैं। सभी कार्य प्रभारी के भरोसे ही चलाए जा रहे हैं।
जल्द भेजा जाएगा प्रस्ताव
खाली पड़े पदों की भर्ती के लिए जल्द ही प्रस्ताव भेजा जाएगा, जिससे सभी कार्य प्रभावित न हों।
रामवरन रजोरिया, सीएमओ

sachendra tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned