अब सरकारी स्कूल में भी नर्सरी से शुरू होंगी कक्षाएं, निजी स्कूलों जैसी मिलेंगी सुविधाएं

शहर और ग्रामीण क्षेत्र के पच्चीस स्कूल हुए चिंहित

By: sachendra tiwari

Published: 28 May 2020, 09:30 AM IST

बीना. निजी स्कूलों की तर्ज पर अब सरकारी स्कूलों में भी नर्सरी, एलकेजी और यूकेजी कक्षाएं लगेंगी। इसकी शुरुआत इसी सत्र से करने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए पच्चीस स्कूलों को चयनित किया गया है, जिसमें शहर और ग्रामीण क्षेत्र के स्कूल शामिल हैं।
मिली जानकारी के अनुसार इस सत्र से यह तीन कक्षाएं शुरू होनी हैं। इसके लिए ऐसे स्कूलों का चयन किया गया है, जहां अतिरिक्त कक्ष और पर्याप्त स्टाफ है। साथ ही आंगनबाड़ी केन्द्र भी इन स्कूलों के पास में हैं। इन कक्षाओं में निजी स्कूल जैसी ही सुविधाएं विद्यार्थियों को दी जाएंगी। इस शुरूआत से सभी बच्चों को निजी स्कूल जैसी सुविधा नि:शुल्क मिल सकेगी और सरकारी स्कूलों की घट रही दर्ज संख्या में भी सुधार होगा। क्योंकि लोग निजी स्कूलों में नर्सरी से ही बच्चों का दाखिला कराते हैं और आगे भी उन्हीं स्कूलों में पढ़ाई कराते हैं। यदि सरकारी स्कूल में नर्सरी में दाखिला होगा तो वह आगे की कक्षाएं भी उसी स्कूल में पढ़ेगा।
इन स्कूलों का हुआ चयन
इसके लिए कोरजा, पड़रिया, सतौरिया, नौगांव, नानक वार्ड, गांधी वार्ड, ढांड़, बजरिया, पाठक वार्ड, गनेश वार्ड, जेबीएस मंडीबामोरा, गौहर, सनाई, ऐरन, इटावा, विल्धव, बालक स्कूल आगासौद, कन्या स्कूल आगासौद, गिरोल, हिन्नौद, प्रताप वार्ड, कन्या स्कूल देहरी, धनौरा, बेलई, देवल स्कूल का चयन किया गया है।
चल रही है तैयारी
नर्सरी, एलकेजी और यूकेजी कक्षाएं शुरू करने के लिए ब्लॉक के पच्चीस स्कूलों को चयनित किया गया है और इसी सत्र से कक्षाएं शुरू करने की तैयारियां की जा रही है। बच्चों को सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। इन कक्षाओं के संचालक के लिए बजट भी आएगा।
डीसी चौधरी, बीआरसीसी, बीना

sachendra tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned