नए कांजी हाउस के लिए नहीं मिल पाई जगह, पुराने में नहीं पर्याप्त जगह

आवारा मवेशियों को रखने के लिए नहीं है नपा के पास व्यवस्था

By: sachendra tiwari

Published: 08 Oct 2020, 09:15 AM IST

बीना. नगरपालिका का पुराना कांजी हाउस बहुत छोटा होने के कारण आवारा मवेशियों को रखने के लिए परेशानी होती है और मवेशियों को सिर्फ सड़कों से यहां-वहां खदेड़ दिया जाता है जो फिर वापस सड़कों पर आ जाती हैं। नया कांजी हाउस बनाने के लिए जगह लेने कई बार बैठक में प्रस्ताव भी डाला गया, लेकिन अभी तक जमीन मिली नहीं है।
शहर में घूमने वाले आवारा मवेशी लोगों के लिए सबसे बड़ी मुसीबत बने हुए हैं और इसका स्थाई समाधान भी नहीं निकल पा रहा है। देहरी रोड पर मवेशियों को रखने बनाया गया कांजी हाउस बहुत छोटा है। इस समस्या को हल करने के लिए बैठक में शहर के आसपास जमीन तलाशने का प्रस्ताव भी डाला जा चुका है, लेकिन अभी तक जमीन न मिलने के कारण आगे की कार्रवाई शुरू नहीं हो पाई है। यदि बड़ा कांजी हाउस बन जाता है तो अवारा मवेशियों को रखने की समस्या खत्म हो जाएगी। इसके लिए करीब एक एकड़ जमीन की जरूरत बताई गई थी। गौरतलब है कि सड़कों पर घूम रहे मवेशियों के कारण आए दिन दुर्घटनाएं होती हैं।
पहले जंगलों में छुड़वाएं थे मवेशी
कुछ वर्षों पूर्व नगरपालिका ने मवेशियों की समस्या खत्म करने के लिए मवेशियों को जरूआखेड़ा के पास जंगलों में छुड़वाना शुरू कर दिया था। कर्मचारी मवेशियों को ट्रॉले में भरकर जंगलों मे छोड़ आते थे, लेकिन अब तो मवेशियों को पकड़ा ही नहीं जा रहा है।
गौशालाओं की कमी
क्षेत्र में मवेशियों को रखने के लिए गौशाला भी पर्याप्त नहीं है। ग्रामीण क्षेत्रों में बनने वाली गौशालाएं अभी तक या तो बन नहीं पाई हैं या मवेशियों को रखा नहीं जा रहा है। यदि क्षेत्र में बड़ी गौशाला का निर्माण हो जाए तो वहां मवेशियों को रखा जा सकता है।
दो बार निकाले गए थे टैंडर
बीना के आसपास रोड से लगी हुई एक एकड़ जमीन की जरूरत के लिए दो बार नपा ने टैंडर निकाले थे और सिर्फ एक ही टैंडर आया था, जिससे उसे निरस्त कर दिया गया था।
प्रताप यादव, आरआइ, नपा

sachendra tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned