scriptOld wells can do the work of water recharging, ending due to lack of p | वॉटर रिचार्जिंग का कार्य कर सकते हैं पुराने कुआं, संरक्षण के अभाव में होते जा रहे खत्म | Patrika News

वॉटर रिचार्जिंग का कार्य कर सकते हैं पुराने कुआं, संरक्षण के अभाव में होते जा रहे खत्म

जिम्मेदार अधिकारी नहीं दे रहे ध्यान

सागर

Published: March 29, 2022 09:08:02 pm

बीना. गर्मी का मौसम आते ही पानी की समस्या से निपटने के लिए नए स्रोतों की तलाश शुरू की जाती है, लेकिन पुराने स्रोत कुओं का संरक्षण नहीं किया जाता है। यदि इन कुओं की सफाई कर दी जाए तो पानी की समस्या से निजात मिल सकती है। क्योंकि पहले इन कुओं का उपयोग किया जाता था और इनमें भरपूर पानी भी था, लेकिन अब यह स्रोत उपेक्षा के शिकार हो गए हैं। शहर में कहीं भी पानी की समस्या सामने आती हैं, तो नया खनन कर पानी तलाशने की उम्मीद की जाती है और इनमें भी पानी नहीं निकलता है, लेकिन कभी भी पुराने जलस्रोतों को संरक्षित करने का काम नहीं किया जाता है। खिरिया वार्ड, आचवल वार्ड, पुलिस थाना परिसर, मंडी परिसर, सुपर मार्केट सहित अन्य जगहों पर करीब दो दर्जन कुआं थे। इनमें से कुछ कुओं का तो अस्तित्व भी खत्म हो गया और कुछ जालियों, पत्थर से ढंक दिया है, जो कुआं सूख गए हैं उनमें लोग कचरा डालने लगे हैं। वर्तमान में भी ऐसे कुआं हैं, जिनमें पानी है। इनकी सफाई न होने के कारण पानी उपयोग में नहीं आ पाता है। यदि इन कुओं का संरक्षण फिर से किया जाए तो यह आज भी लोगों की प्यास बुझा सकते हैं। साथ ही यह कुआं बारिश में वॉटर रिचार्जिंग का कार्य भी कर सकते हैं, जिससे जलस्तर बढ़ेगा।
ट्यूबवेलों पर ज्यादा जोर
नपा और ग्रामीण क्षेत्रों में कुओं के संरक्षण की तरफ ध्यान नहीं दिया जाता है। सिर्फ ट्यूबवेल खनन पर जोर देते हैं, जबकि कुआं कम लागत में भी तैयार किया जा सकता है। ट्यूबवेलों की कारण जलस्तर भी नीचे जा रहा है। कुछ क्षेत्रों में चार सौ से पांच सौ फीट खनन होने पर भी पानी नहीं निकल रहा है।
रेलवे क्षेत्र में एक कुआं को किया गया है संरक्षित
रेलवे क्षेत्र में बहुत से कुआं हैं और पुरानी लोको के पास बने एक कुएं को रेलवे ने संरिक्षत किया गया है। इसमें पानी भी रहता है। इसी तरह यदि अन्य कुओं को संरक्षित किया जाएगा तो जलस्तर बढ़ाने और लोगो को पानी उपलब्ध कराने में यह कारगर होंगे।

Old wells can do the work of water recharging, ending due to lack of protection
Old wells can do the work of water recharging, ending due to lack of protection

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

अमृतसर से ISI के दो जासूस गिरफ्तार, पाकिस्तान भेजते थे भारतीय सेना से जुड़ी खुफिया जानकारीहरियाणा के झज्जर में फुटपाथ पर सो रहे मजदूरों को ट्रक ने कुचला, 3 की मौत 11 घायलभाजपा राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक : आज जयपुर आएंगे राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, एयरपोर्ट से कूकस तक 75 स्वागत द्वार तैयारBharatpur Road Accident: भीषण सड़क हादसे में 5 लोगों की मौत, मचा हाहाकारLPG Price Hike Today: घरेलू गैस की कीमत 3.50 रुपए बढ़े, कमर्शियल सिलेंडर पर 8 रुपए का इजाफाIPL के इतिहास में पहली बार होगा ऐसा, इन टीमों के बिना खेला जाएगा प्लेऑफपोर्नोग्राफी मामले में व्यवसायी राज कुंद्रा के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का भी मामला दर्जज्ञानवापी मस्जिद मुद्दे पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का पहला बयान, केंद्रीय मंत्री भी बोले
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.