रिंग रोड के लिए केन्द्रीय परिवहन मंत्री ने दिया आदेश, जल्द मिल सकती है सौगात

तेजी से औद्योगिक नगर के रुप में विकसित हो रहा शहर

By: anuj hazari

Published: 20 Jul 2018, 09:00 AM IST

बीना. शहर में रिंग रोड की मांग जल्द ही पूरी हो सकती है इसके लिए सड़क परिवहन मंत्री नितिन गड़करी ने परिवहन विभाग के मुख्य अभियंता के लिए आदेश दिए है कि जल्द ही प्रकिया को पूरा किया जाए। इस संबंध में विधायक महेश राय ने 9 अप्रैल 2016 को केन्द्रीय मंत्री के लिए पत्र लिखा था, जिसके बाद 23 अप्रैल 2018 को केन्द्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने इसके लिए आदेश जारी कर कार्रवाई के लिए कहा है। इसके बाद शहर को जल्द ही रिंग रोड की स्वीकृति मिल सकती है। तेजी से औद्योगिक नगर के रुप में विकसित हो रहे शहर के लिए कई सालों से रिंग रोड की दरकार है, लेकिन आज तक इसे पूरा नहीं किया जा सका और अब लोगों में आक्रोश बढ़ रहा है। वहीं लगातार भारी वाहनों से हो रही घटनाओं के कारण लोगों में डर बना हुआ है और लोग सड़कों पर उतर आए हैं। रिंग रोड की मांग के लिए कई सालों से प्रयास किया जा रहा है, लेकिन इसके लिए स्वीकृति नहीं दी जा रही है। बीना में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि था कि बीना के लिए औद्योगिक नगर के लिए विकसित किया जा रहा है, जहां पर तमाम छोटे-बड़े उद्योग लगाए जा रहे हैं, लेकिन उद्योगों के साथ कई अन्य जरुरतें भी रहती हैं, जिन्हें पूरा किया जाना चाहिए। यहां आने वाले भारी वाहनों का बोझ शहर की जनता झेल रही है। जहां एक ओर सर्वोदय चौराहे से झांसी गेट, सागर गेट तक भारी वाहनों की एंट्री बंद रहती है तो वहीं दूसरी ओर सर्वोदय से मुख्य बाजार से आंबेडकर तिराहा और खिमलासा गेट की ओर वाहन जाते हैं जहां पर घटनाएं होती हैं। रिफाइनरी ने भोपाल की ओर से आने वाले वाहनों को खिमलासा रोड से मिलाने के लिए किर्रोद, किर्रावदा सड़क का निर्माण कराया था, लेकिन उस रास्ते से शहर की जनता कहीं से भी अपने आप को सुरक्षित महसूस नहीं करती है। क्योंकि वहां से आने के बाद वाहन मुख्य बाजार में ही एंट्री करते हैं।
सर्वे तो हुआ, लेकिन नहीं बन पाया बायपास रोड
बायपास रोड बनाने के लिए कुछ वर्षों पहले सर्वे भी हुआ चुका है। सर्वे के बाद से यह ठंडे बस्ते में चला गया है। यदि सर्वे के बाद इसका कार्य शुरू हो गया होता तो शायद यह समस्या हल ही हो जाती है। सर्वे में बीना-भोपाल रोड स्थित रामनगर गांव के यहां से बायपास का सर्वे हुआ था तो किर्रोद और मालथौन रोड स्थित बेलई तिराहा से पिपरखेड़ी होते हुए बीना-सागर रोड पर कुरुआ-ढुरूआ के पास तक हुआ था। सर्वे के बाद अभी तक कोई पहल नहीं हुई है। इसके अलावा दूसरी ओर इंडस्ट्रीयल एरिया से नौगांव, सतौरिया होते हुए बीना-सागर रोड पर बायपास रोड जोड़ा जा सकता है। जिससे पूरे शहर के चारों ओर रिंग रोड बन जाएगा और भारी वाहनों का शहर में प्रवेश रूक जाएगा। भारी वाहनों के न आने से हादसे कम होंगे।

anuj hazari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned