सागर वाले स्वच्छता के शहर में जागरूक हो जाओ ताकि यह शहर देश में बन जाए नं 1 : मुनि प्रमाण सागर

- पत्रिका के स्वर्णिम भारत अभियान के समर्थन में हजारों श्रद्धालुओं ने हाथ उठाकर लिया संकल्प

 

By: रेशु जैन

Published: 19 Mar 2020, 06:04 AM IST

सागर. भाग्योदय तीर्थ में बुधवार को पत्रिका के स्वर्णिम भारत अभियान से जुड़कर हजारों लोगों ने एक स्वर में शहर को स्वच्छ बनाने का संकल्प लिया। मौका था शाम ६.२० बजे से आयोजित शंका समाधान कार्यक्रम का। यहां मुनिश्री प्रमाण सागर महाराज के मागदर्शन में श्रद्धालुओं के लिए शपथ दिलाई गई। इस मौके पर मुनिश्री ने पत्रिका के इस अभियान की तारिफ करते हुए कहा कि सभी लोगों को हाथ उठाकर इस अभियान में समर्थन देना चाहिए। उन्होंने कहा कि सागर वाले स्वच्छता के क्षेत्र में इतने जागरूक हो जाएं कि देश और विदेश में सागर नंबर १ शहर बने। आप सभी का कर्तव्य है कि बाहर और भीतर स्वच्छता को बनाकर रखें। मुनिश्री ने कहा कि स्वच्छता से ही समृद्धि है। इसलिए इस अभियान को समर्थन दें। धर्मसभा में मुकेश जैन ढाना महाभियान के तहत सभी श्रद्धालुओं के लिए देश को सालभर में ७० घंटे देने की शपथ दिलाई। आयोजित सभा में सभी श्रद्धालुओं एक साथ अपने शहर को स्वच्छ बनाने का संकल्प लिया।

घर बैठकर देखें कार्यक्रम
कार्यक्रम में कोराना वायरस को लेकर भी मुनिश्री ने संदेश दिया। मुनि प्रमाण सागर ने कहा कि कोरना वायरस विश्व व्यापी समस्या बन गया है। शासन-प्रशासन को कोई परेशानी न हो इसका हमें ध्यान रखना होगा। कार्यक्रम यथावत चल रहा है। जिसका प्रसारण लाइव किया जाता है इसलिए आप घर बैठकर आनंद ले सकते हैं। जरूरत नहीं है कि इतनी बड़ी संख्या में यहां एक जुट हों। हम भावना भाएं कि सारे जगत का मंगल हो।

सर्वतोभद्र जिनालय आपका भव सुधारेगा

सुबह आयोजित धर्मसभा में मुनिश्री ने कहा कि भाग्योदय तीर्थ अस्पताल जब बना था वह जनकल्याण के लिए था लेकिन सर्वतोभद्र जिनालय आपका भव सुधारने के लिए है। सागर के भक्तों पर आचार्य गुरुदेव का पूरा भरोसा है। उस पर आप सभी को खरा उतरना है। कोई परिवार, कोई घर बाकी नहीं रहना चाहिए जिसका दान इस मंदिर में ना लगे।
इतिहास की संरचना में आपको अपनी चंचला लक्ष्मी का दान करना चाहिए। जीवन में अच्छा करने का संकल्प लें। अच्छा मौका है इसे आप कभी मत चूके संपत्ति तो सभी के पास है। और आप जोड़कर भी रखे हो लेकिन यदि उस संपत्ति का आपने सदुपयोग कर लिया। तो भाव बहुत है। आज के पात्र चलन का सौभाग्य विमला जैन आनंद स्टील नीटू स्टील दुलीचंद जैन मोना जैन,नेहा जैन, आदि,अनंत,अंतरा और देवेंद्र जैन स्टील उषा जैन सौरभ जैन, रिमी जैन संस्कृति जैन,चर्चित जैन,कालूराम जैन मनीष जैन, राजेश जैन,श्रीमती ममता जैन अर्पित जैन आदि परिवार को प्राप्त हुआ।

रेशु जैन Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned