ग्वाल समाज के लोगों ने कराई परंपरागत पाड़ा की लड़ाई, बड़ी संख्या में देखने पहुंचे लोग

पाड़ा की लड़ाई

By: anuj hazari

Published: 15 Nov 2020, 09:34 PM IST

बीना. सालों से चली आ रही परंपरा अनुसार पाड़ा की लड़ाई रविवार को शिवाजी वार्ड में हुई, जिसे देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग पहुंचे। गौरतलब है कि हर साल दिवाली के दूसरे ग्वाल समाज के लोग पाड़ा की लड़ाई कराते हैं। इस प्रतियोगिता में पाड़ा मालिक उन्हें लेकर पहुंचते हैं। रविवार को तीन पाड़ा लड़ाई के मैदान में पहुंचे थे और उनकी आपस में लड़ाई कराई गई। इसमें ग्वालटोली निवासी मुकेश यादव, महेन्द्र ग्वाल व नारायण यादव के पाड़ा शामिल थे। जिनके बीच अलग-अलग लंबे समय तक जबरदस्त लड़ाई हुई, जिसमें महेन्द्र ग्वाल के पाड़ा ने नारायण के पाड़ा को हरा दिया। इसके बाद दूसरी लड़ाई में नारायण के पाड़ा ने मुकेश यादव के पाड़ा को हराया। शैलू ग्वाल ने बताया कि हर साल जो पाड़ा इस लड़ाई में शामिल होते हैं वह दीपावली के करीब पंद्रह दिन पहले से ही मारने लगते हैं, जिसके बाद यह पता चल जाता है कि पाड़ा लडऩे के लिए तैयार है और इन्हें लडऩे के लिए तैयार किया जाता है। दीपावली के दूसरे दिन गोवर्धन भगवान की पूजा करने के बाद पाड़ा की लड़ाई होती है। जिसे देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग आते हैं।

anuj hazari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned