परदेशियों पर नहीं पुलिस की नजर, कर सकते हैं चुनाव प्रभावित, पढ़े खबर

टोलियों में निकलते हैं युवक, पुलिस नहीं करती पूछताछ

By: anuj hazari

Published: 10 Apr 2019, 10:00 AM IST

बीना. लोकसभा चुनाव के लिए आचार संहिता लगने के बाद पुलिस के लिए बाहर से आकर शहर में रह रहे लोगों की जानकारी एकत्रित करनी चाहिए। ताकि चुनाव के समय इन लोगों पर नजर रखी जा सके और किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना से भी बचा जा सके। शहर में कई ऐसी कंपनियां काम कर रही हैं जिनमें रोजाना सैकड़ों युवाओं के लिए ट्रेनिंग दी जाती है, लेकिन यह टे्रनिंग किस फील्ड की रहती है और क्या काम करना होता है उन युवकों से पूछने पर वह कुछ भी नहीं बताते हैं। गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव के पहले तत्कालीन एसडीएम डीपी द्विवेदी ने सड़क पर बड़ी संख्या में युवकों के निकलने पर पुलिस को उन सभी युवकों को थाने ले जाकर पूछताछकरने के लिए आदेशित किया था। जिसके बाद कुछ युवकों का डाटा तो पुलिस ने नोट कर लिया था, लेकिन उसके बाद से फिर इन युवकों का डाटा कंपनियों से नहीं मंगाया जा रहा है जिससे यह पता नहीं चल पा रहा है कि कौन युवक कहा से आकर रह रहा है।

anuj hazari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned