फर्जी वोटर्स की पहचान करने में राजनीतिक दलों की रुचि ही नहीं

फर्जी वोटर्स की पहचान करने में राजनीतिक दलों की रुचि ही नहीं

By: नितिन सदाफल

Published: 07 Jun 2018, 12:07 PM IST

सागर. मतदाता सूची से बोगस वोटर्स के नाम हटाने के लिए कसरत कर रहे जिला प्रशासन को राजनीतिक दलों का ज्यादा सहयोग नहीं मिल रहा है। हालांकि दलों का दावा है कि उन्होंने पार्टी के बीएलए बनाए हैं और वे मतदाता सूची का अध्ययन कर फर्जी मतदाताओं के नाम हटवा रहे हैं। इधर, जिला निर्वाचन कार्यालय द्वारा बनाए गए बीएलआे सूची रजिस्टर लेकर डोर टू डोर सर्वे कर सूची का शुद्धिकरण के कार्य में जुटे हैं।
निर्वाचन कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार राजनैतिक दलों को बीएलए नियुक्त कर सूची देने को कहा गया था। बीएलए महज बैठकों तक ही सीमित हैं। बताया जा रहा है कि दलों को १ जनवरी २०१८ की मतदाता सूची दी गई है। इसी सूची में में मृत, स्थानांतरित व अनुपस्थित मतदाताओं की पहचान करना है। जिला निर्वाचन अधिकारी ने राजनीतिक दलों से सूची में नाम जुड़वाने व कटवाने की अपील की है। बताया जा रहा है कि मतदाता सूची के पुनरीक्षण का कार्य जुलाई माह तक पूरा कर लिया जाएगा। अंतिम प्रकाशन सितंबर में होगा, दावा आपत्तियों के निराकरण के बाद चुनाव कराए जाएंगे।

हाथ पर हाथ धरे बैठी है भाजपा
मतदाता सूची के मामले में भाजपा अभी भी हाथ पर हाथ घरे बैठी है। इस मामले में वह 2013 में बनाए गए बीएलए पर ही निर्भर है। पार्टी हाल ही में वरिष्ठ कार्यकर्ता और सांसद प्रतिनिधि रामेश्वर नामदेव को निर्वाचन संबंधी कार्य का प्रभारी बनाया है। नामदेव ने बताया कि हमने अभी पार्टी द्वारा दिया गया नियुक्ति पत्र निर्वाचन कार्यालय को सौंपा है। कार्यकर्ताओं की बैठक बुलाई जा रही है। पार्टी से मिलने वाले दिशा निर्देशों पर कार्रवाई की जाएगी।

प्रभारी नियुक्त करेगी कांग्रेस
मतदाता सूची में फर्जी मतदाताओं को लेकर हंगामा करने वाली कांग्रेस ने अब तक बीएलए की सूची बनाकर जिला निर्वाचन कार्यालय को भेजी है। बीएलए के सहयोग के लिए एक प्रभारी भी नियुक्त किया गया है। सागर विधानसभा क्षेत्र के करीब २४५ मतदान केंद्रों के लिए २४५ बीएलए नियुक्त किए गए है। बताया जा रहा है कि अधिकांश बीएलए बूथ पर नहीं पहुंच रहे और न ही अब तक उन्होंने फर्जी नामों की कोई सूची बनाई है। कांग्रेस प्रवक्ता डॉ. संदीप सबलोक का कहना है कि बीएलए की सूची निर्वाचन कार्यालय को सौंप दी गई है।
२४५ बीएलए के अलावा एक सहयोगी की भी नियुक्ति की गई है। आने वाले दिनों में ४-४ वार्ड में एक-एक और प्रभारी नियुक्त किया जा रहा है। कुछ बूथों पर सूची की जांच का कार्य चालू हो गया है कुछ पर जल्द शुरू होगा। इस पूरे मामले की मॉनिटरिंग जिला शहर अध्यक्ष रेखा चौधरी पार्टी कार्यालय में बैठकर कर रही हैं।

मतदाता सूची के शुद्धिकरण का काम तेजी से चल रहा है, राजनीतिक दलों से भी अपील की गई है कि वे बीएलए नियुक्त कर मतदाताओं की पहचान करे और नाम कटवाएं या नए मतदाताओं के नाम जुड़वाएं। जितने ज्यादा लोग सहयोग करेंगे, उतना अच्छा होगा।
आलोक कुमार सिंह, कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी

Show More
नितिन सदाफल Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned