scriptPostgraduate college can get permission for research center in seven s | स्नातकोत्तर महाविद्यालय को सात विषयों में मिल सकती है शोध केन्द्र की अनुमति | Patrika News

स्नातकोत्तर महाविद्यालय को सात विषयों में मिल सकती है शोध केन्द्र की अनुमति

विवि के दल ने किया निरीक्षण

सागर

Published: August 03, 2022 09:16:06 pm

बीना. शहर के विद्यार्थियों को पीएचडी करने के लिए दूसरे शहरों में जाना पड़ता है, लेकिन जल्द ही सात विषयों में यह सुविधा शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में मिल सकती है। इसके लिए प्रक्रिया शुरू हो गई है और महाराजा छत्रसाल बुंदलेखंड विवि छतरपुर के दल ने भी महाविद्यालय का निरीक्षण कर लिया है। मिली जानकारी के अनुसार महाविद्यालय में एमए इतिहास, एमए राजनीतिशास्त्र, एमए अर्थशास्त्र, एमएससी प्राणीशास्त्र, एमएससी रसायनशास्त्र, एमएससी वनस्पति शास्त्र और एमकॉम सहित सात विषयों में शोध केंद्र की स्थापना की तैयारियां चल रही हैं और सबकुछ ठीक रहा, तो जल्द इसको हरी झंडी भी मिल सकती है। छतरपुर विवि से आए निरीक्षण दल के संयोजक डॉ. जेपी शाक्य छतरपुर, डॉ. बीएस परमार छतरपुर, ओएसडी उच्च शिक्षा सागर डॉ. भावना यादव, प्राचार्य डॉ. इला तिवारी, डॉ. इमराना सिद्दीकी, डॉ. नवीन गिडियन, डॉ. आनंद तिवारी सागर, डॉ. केके गंगेले और डॉ. सीएल प्रजापति छतरपुर ने महाविद्यालय में उपलब्ध सुविधाओं, स्टाफ, संसाधान की जानकारी ली। दल संयोजक ने बताया कि शोध का उपयोग मानव कल्याण के लिए हो, वर्ष 1964 में स्थापित शासकीय पीजी कॉलेज बीना विकास की ओर निरंतर अग्रसर है। डॉ. परमार ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति भारत सरकार की एक महत्वपूर्ण पहल है, इससे विद्यार्थियों को शोध और अनुसंधान के क्षेत्र में आगे बढऩे के नए अवसर प्राप्त होंगे तथा विद्यार्थियों को रोजगार एवं स्वरोजगार के क्षेत्र में असीम संभावनाएं हैं। इस अवसर पर शोध केंद्र के संयोजक डॉ. मुकेश कुमार निरंजन, डॉ. एके जैन, डॉ. व्हीके अग्निहोत्री, डॉ. ऊषा तिवारी, डॉ. नमीता अग्निहोत्री उपस्थित थे।
महाविद्यालय में उपलब्ध हैं यह सुविधाएं
स्नातकोत्तर महाविद्यालय में शोध के लिए पर्याप्त स्टाफ है और संसाधन भी हैं, जिसमें अत्याधुनिक लैब उपलब्ध है और विज्ञान भवन, वाणिज्य भवन का निर्माण चल रहा है। महाविद्यालय के पास पर्याप्त भवन हैं। साथ ही राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी भी आयोजित हो चुकी हैं।
महाविद्यालय की उपलब्ध्यिों को बताया
करीब चार माह पहले महाविद्यालय में शोध केन्द्र शुरू करने के लिए छतरपुुर विवि को पत्र भेजा गया था और मंगलवार को विवि से आए दल ने निरीक्षण किया है। विभिन्न विभागाध्यक्ष द्वारा निरीक्षण दल को विभाग की अकादमिक उपलब्धियों, संचालित गतिविधियों से अवगत कराया गया है। यदि शोध केन्द्र की अनुमति मिलती है, तो यह बड़ी सौगात होगी।
डॉ. एमएल सोनी, प्राचार्य, शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, बीना

Postgraduate college can get permission for research center in seven subjects
Postgraduate college can get permission for research center in seven subjects

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Jammu-Kashmir: उरी जैसे हमले की बड़ी साजिश हुई फेल, Pargal आर्मी कैंप में घुस रहे 3 आतंकी ढेरजगदीप धनखड़ आज लेंगे 14वें उपराष्ट्रपति पद की शपथ, दोपहर 12:30 बजे राष्ट्रपति भवन में होगा समारोहMaharashtra: महाराष्ट्र में स्टील कारोबारी पर इनकम टैक्स का छापा, करोड़ों रुपये कैश सहित बेनामी संपत्ति जब्तबिहार सीएम की शपथ लेने के साथ अपने ही रिकॉर्ड तोड़ने से चूके Nitish Kumar, 24 अगस्त को साबित करेंगे बहुमतपीएम मोदी का कांग्रेस पर बड़ा हमला, कितना भी 'काला जादू' फैला लें कुछ होने वाला नहींMumbai: सिंगर सुनिधि चौहान के खिलाफ शिवसेना ने पुलिस में दर्ज कराई शिकायत, पाकिस्तान स्पॉन्सर कार्यक्रम का लगाया आरोपRaksha Bandhan 2022: भाइयों के खुशहाल जीवन और समृद्धि के लिए उनकी राशि अनुसार बांधें इस रंग की राखीदेश के 49वें CJI होंगे यूयू ललित, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने नियुक्ति पर लगाई मुहर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.