तीन साल से बंद छिरारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर की पदस्थापना

पत्रिका ने 25 जनवरी को प्रकाशित की थी खबर

By: manish Dubesy

Published: 18 Feb 2020, 04:26 PM IST

तीन साल से बंद छिरारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर की पदस्थापना, ग्रामीण खुश, एएनएम ने भी सेवा देना शुरू किया
छिरारी. छिरारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में तीन साल बाद फिर स्वास्थ्य सेवाएं सुचारू रूप से संचालित होने लगी हैं। स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर की नई पदस्थापना हो गई है। इससे आसवास के करीब 20 ग्रामों की 25000 आबादी को छोटी-छोटी बीमारी के लिए सागर, गढ़ाकोटा और रहली नहीं जाना पड़ेगा। यहां पर पहली फरवरी को एक एएनएम ने भी ज्वाइन कर लिया है। गौरतलब है कि २५ फरवरी को पत्रिका ने इस मुद्दे को ‘तीन साल से स्वास्थ्य केंद्र पर ताला, मशीनों पर चढ़ी धूल इलाज को जाना पड़ता है शहर’ शीर्षक से प्रमुखता से प्रकाशित किया था।
डॉ. की पदस्थापना से ग्रामीणों में खुशी व्याप्त है। ग्राम के राकेश नायक ने डॉक्टर प्रांजल नेमा के आने पर खुशी व्यक्त करते हुए कहा कि तीन साल बाद स्वास्थ्य केंद्र में मरीजों को इलाज मिलना शुरू
हो गया है।
चक्रेश जैन ने कहा कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर समेत अन्य स्वास्थ्य सेवकों की जरूरत है अन्य सुविधाएं भी जल्द ही उपलब्ध कराई जाएं तो और अच्छा रहेगा।
शारदा पटेल, मुकेश तिवारी, विनोद सेन, कनई प्रजापति, आशीष पाल, भरत मुन्डा, बलराम साहू, विनोद अहिरवार ने डॉक्टर की नई पदस्थापना सी खुशी व्यक्त की।

तीन साल से बंद छिरारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर की पदस्थापना
manish Dubesy Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned