गिलहरी को ढूंढने डेढ़ घंटे मशक्कत, बंद रही दो फीडर की बिजली सप्लाई

हाइटेंशन लाइन पर गिलहरी के चिपकने दोपहर तीन बजे हो गया था फॉल्ट, मेंटेनेंस नहीं हुआ तो आने वाले गर्मी के सीजन में दबाव बढ़ते ही और भी ज्यादा बढ़ सकती है बिजली की समस्या

 

सागर. हाइटेंशन के संपर्क में आई गिलहरी को ढूंढने के लिए बिजली कंपनी शहर संभाग का अमला डेढ़ घंटे तक मशक्कत करता रहा। दरअसल सोमवार की दोपहर विश्वविद्यालय सब स्टेशन से निकलने वाली हाइटेंशन लाइन फॉल्ट हो गई थी। चूंकि यह फॉल्ट जंगल से गुजरी हाइटेंशन लाइन में हुआ था जिसे ढूंढने में कंपनी के अमले को कॉफी मशक्कत करनी पड़ी। जिसके कारण शहर के अशोक रोड फीडर और सिविल लाइन फीडर में दोपहर 3 बजे से लेकर 4.30 बजे तक सप्लाई बंद रही। यह पहली बार नहीं है जब किसी पक्षी या गिलहरी के कारण लाइन फाल्ट हुई हो और कारण तलाशने में कंपनी के अमले को घंटों मशक्कत करनी पड़ी हो, विश्वविद्यालय के जंगल से गुजरी ओपन लाइन में आए दिन इस प्रकार के फॉल्ट बनते हैं।

गर्मी में बढ़ सकती है समस्या
बीते कुछ दिनों से शहर के किसी न किसी क्षेत्र में फॉल्ट या अन्य किसी कारण के चलते सप्लाई प्रभावित हो रही है। इसके बाद यह कहा जा रहा है कि आने वाले गर्मी के सीजन में जैसे ही लोड बढ़ेगा तो सप्लाई प्रभावित होने की आशंकाएं और भी ज्यादा बढ़ जाएंगी। यदि शहर के उपभोक्ताओं को सुचारू सप्लाई देकर परेशानी से बचाना है तो कंपनी को शहर की कमजोर हो चुकी लाइनों का एक बार फिर मेंटेनेंस करना होगा। हालांकि सुधार की स्थिति हर जगह नहीं होगी।

गिलहरी चिपकी थी
विश्वविद्यालय सबस्टेशन से निकली हाइटेंशन लाइन पर जंगल के क्षेत्र में गिलहरी चिपक गई थी। जिसे ढंूढने में काफी समय लग गया। फिलहाल मेंटेनेंस की जरूरत नहीं है, जहां जरूरत होगी वहां पर सुधार कार्य कराया जाएगा।
एसके सिन्हा, कार्यपालन अभियंता, शहर

मदन गोपाल तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned