scriptनिजी स्कूल फीस का स्ट्रक्चर बताने के लिए तैयार नहीं, शासन का आदेश कर दिया हवा | Patrika News
सागर

निजी स्कूल फीस का स्ट्रक्चर बताने के लिए तैयार नहीं, शासन का आदेश कर दिया हवा

निजी स्कूलों द्वारा विद्यार्थियों के अभिभावकों से वसूली जाने वाली फीस के स्ट्रक्चर का ब्यौरा देने में आनाकानी की जा रही है। शासन ने 8 जून तक फीस की जानकारी अपलोड करने का समय दिया था, लेकिन जिले से एक भी स्कूल ने जानकारी अपलोड नहीं की।

सागरJun 11, 2024 / 12:24 pm

रेशु जैन

school_4193ed

school_4193ed

जिले के एक भी निजी स्कूल ने जानकारी नहीं की अपडेट, अब 15 दिन का दिया अतिरिक्त समय

सागर. निजी स्कूलों द्वारा विद्यार्थियों के अभिभावकों से वसूली जाने वाली फीस के स्ट्रक्चर का ब्यौरा देने में आनाकानी की जा रही है। शासन ने 8 जून तक फीस की जानकारी अपलोड करने का समय दिया था, लेकिन जिले से एक भी स्कूल ने जानकारी अपलोड नहीं की। इसके साथ ही निजी स्कूलों ने समय बढ़ाने की मांग की है। इसके चलते स्कूल शिक्षा विभाग ने 15 दिन का और समय स्कूल संचालकों को दिया है। 24 जून तक पोर्टल पर फीस स्ट्रक्चर और अन्य जानकारी अपलोड करने के लिए कहा है। आदेश में कहा है कि जिला शिक्षा अधिकारियों से कहा गया है कि अपने जिले और संभाग के निजी विद्यालयों से इसका पालन समय सीमा में कराएं।
विभाग को पत्र लिखकर जानकारी देने से बच रहे
जिले में निजी स्कूलों ने शिक्षा विभाग को पत्र लिखा है कि पोर्टल पर फीस की जानकारी अपडेट करने में तकनीकी खामी आ रही है। इसके साथ ही अशासकीय विद्यालय सेवा संगठन ने भी पत्र लिखकर फीस अपडेट करने की तारीख आगे बढ़ाने की मांग है। जिला शिक्षा विभाग द्वारा स्कूलों से मिले इन पत्रों को भोपाल लोक शिक्षण संचालनालय में भेजा गया था। जिसके बाद स्कूल शिक्षा विभाग ने इसकी समय सीमा 24 जून करने के निर्देश दिए हैं।
डुप्लीकेट पुस्तकों संबंधी अभियान पर कार्रवाई नहीं
स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा जारी निर्देश में यह भी कहा गया है कि फर्जी व डुप्लीकेट आईएसबीएन पाठ्यपुस्तकों को पाठ्यक्रम में शामिल किया जा रहा है। इसे ठीक करने के लिए 30 जून तक विशेष अभियान चलाकर जांच कराएं और चिन्हित करें कि कितने विद्यालयों द्वारा किन कारणों से इस तरह की गड़़बड़ी की गई है? इस तरह की गड़बड़ी करने वाले प्रकाशक और बुक सेलर्स के विरुद्ध कार्यवाही भी की जाए, लेकिन जिले में अब तक डुप्लीकेट पुस्तकों पर भी कोई नहीं की गई। कार्यवाही करने के लिए टीम का गठन हो गया है, लेकिन कोई कार्यवाही अब तक नहीं की गई है।
वर्शन
निजी स्कूलों ने पत्र लिखकर फीस की जानकारी अपडटे करने के लिए तारीख बढ़ाने की मांग की थी। सभी पत्रों को भोपाल भेजा गया था। भोपाल से ही तारीख बढ़ाई गई है।
अरविंद जैन, जिला शिक्षा अधिकारी

Hindi News/ Sagar / निजी स्कूल फीस का स्ट्रक्चर बताने के लिए तैयार नहीं, शासन का आदेश कर दिया हवा

ट्रेंडिंग वीडियो