सहारा प्रमुख के खिलाफ न्यायालय में परिवाद पेश

धोखाधड़ी का मामला दर्ज करने की मांग

By: sachendra tiwari

Published: 07 Jun 2018, 11:00 AM IST

बीना. लंबे समय से लोगों के जमा रुपए वापस न मिलने के कारण शहर के लोग सहारा कंपनी से परेशान हैं और अब परेशान लोग न्यायालय की शरण में पहुंचने लगे हैं। परेशान अधिवक्ता भरत सेन ने न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी डीएस परमार के न्यायालय में परिवाद पेश किया है। परिवाद सहारा इंडिया कंपनी प्रमुखसुब्रत राय पर धारा 311, 417, 418, 419, 420 के अंतर्गत प्रस्तुत किया गया है। इसके पूर्व थाना प्रभारी को भी मामला दर्ज करने के लिए आवेदन दिया था। परिवाद प्रस्तुत होने के बाद न्यायाधिश ने आदेश में लिखा है कि परिवादी ने बीना थाने में प्रकरण पंजीबद्ध करने के लिए आवेदन प्रस्तुत किया था। जिससे परिवाद पत्र की प्रति थाना प्रभारी को भेजकर उक्त परिवाद संबंधी जानकारी मंगाईजाए कि उनके थाने में एफआईआर दर्ज है या नहीं, जिससे धारा 210 दंप्रसं की स्थिति उत्पन्न होने पर आगामी कार्रवाई की जाए। यह जानकारी 16 जुलाई 2018 को न्यायालय में प्रस्तुत करनी होगी। अधिवक्ता ने परिवाद में उल्लेख किया है कि वह हर माह रुपए बचाकर सहारा में जमा करता था, जिसकी अवधि पूरी होने के बाद भी सहारा से रुपए नहीं मिले हैं, जिसके कारण उन्हें समय पर रुपए न मिलने से परेशानी हो रही है। पीडि़त ने बताया कि जब रुपए लेने के लिए सहारा कंपनी जाकर मैनेजर जेएस सींग से बात की तो उन्होंने कहा कि 2019-20 के पहले रुपए नहीं मिलेंगे।

नाली, सड़क की मांग पर वार्ड में पहुंचे विधायक
बीना. गांधी वार्डस्थित जागेश्वरी कॉलोनी स्थित 7 नंबर गली के लोग सड़क, नाली के लिए परेशान हैं। इस संबंध में अध्यक्ष, पार्षद सहित सभी से वार्डवासी शिकायत कर चुके, लेकिन कोई हल नहीं निकला। परेशान होकर वार्डवासी बुधवार को विधायक महेश राय के यहां पहुंचे। समस्या सुनने के बाद विधायक मौके पर पहुंचे और सीएमओ, सबइंजीनियर को भी बुलाया। उन्होंने डेढ़ माह में नाली, सड़क का निर्माण कराया जाएगा। यहां लोग कई वर्षों से परेशान हो रहे हैं। वार्डवासियों ने बताया कि पार्षद, नगरपालिका में कई बार शिकायत करने के बाद भी आज तक कोई सुनवाई नहीं हुई है, जिससे बारिश में घर से निकलने में भी परेशानी होती है। नाली न होने से गंदा पानी कच्ची सड़क पर बहता रहता है। पार्षद संजू राय ने बताया कि शिकायत लेकर वार्डवासी आए थे तो नपा अधिकारियों को सूचना दी गईथी।

 

sachendra tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned