लोकनिर्माण मंत्री ने कहा- गौवंश का संरक्षण राज्य शासन की प्राथमिकता

रहली विधानसभा क्षेत्र में पौने तीन करोड़ की लागत से बनी सात गौ-शालाऐं

By: Pawan Tiwari

Published: 29 Nov 2020, 01:59 PM IST

भोपाल. मध्यप्रदेश के लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव ने कहा कि गौवंश संरक्षण एवं संवर्धन राज्य शासन की प्राथमिकता है। इसके लिये जन सहयोग से समन्वित प्रयास किये जा रहे है। उन्होंने कहा कि रहली विधानसभा क्षेत्र में 2 करोड़ 81 लाख रूपये की लागत से 7 गौशालाओं का निर्माण कराया गया है। उन्होंने यह बात 81 लाख रूपये की लागत बनाई गई तीन आधुनिक गौशालाओं के लोकार्पण अवसर पर कहीं।

मंत्री भार्गव ने कहा कि सनातन धर्म संस्कृति में गौमाता का धार्मिक और अध्यात्मिक महत्व बतलाया गया है। वैदिक काल में गौवंश आर्थिक सम्पन्नता का परिचायक भी थी। गाय का महत्व मानव जीवन में उपयोगिता के आधार पर ही निर्धारित हुआ है। उन्होंने कहा कि गाय से उत्पादित दूध, गौ-मूत्र और गोबर मानव जीवन के लिये काफी उपयोगी हैं। गौ-केबिनेट का आयोजन कर राज्य सरकार ने अपनी प्रतिबद्धता स्पष्ट की है। गौवंश हिन्दूओं की आस्था का प्रतीक है। इनके संरक्षण के लिये राज्य सरकार द्वारा अनेक महत्वपूर्ण कदम उठाए जा रहे है।

मंत्री भार्गव ने बताया कि रहली क्षेत्र में पूर्ण सुविधा युक्त गौशालाओं का निर्माण कराया गया है। रहली तहसील में ग्राम भोंरदहार बेलई, ताल सैमरा, टिकीटोरिया तथा मगरौन में 50-50 लाख रूपये की लागत से बनाई गई गौशालाऐं संचालित हैं। ग्राम समनापुर कलां, छिरारी और बलेह में 27-27 लाख रूपये की लागत से बनाई गई गौशालाओं का गत दिवस लोकार्पण किया गया है। इन सभी गौशालाओं को पूर्ण सुविधा युक्त बनाया गया है।

Pawan Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned