BMC:बुंदेलखंड वासियों की फिर जागी उम्मीद, कैंसर पीडि़तों की लेजर से रेडियोथेरेपी करने की तैयारी

रेडियोथेरेपी यूनिट शुरू करने बीएमसी प्रबंधन ने शासन को भेजा 18 करोड़ रुपए का प्रपोजल

By: आकाश तिवारी

Published: 11 Dec 2017, 03:06 PM IST

सागर. कैंसर पीडि़त मरीजों की रेडियोथेरेपी यूनिट बीएमसी में शुरू होने वाली है। इसे लेकर डीन ने शासन को १८ करोड़ रुपए का प्रपोजल बनाकर भेज दिया है। जबलपुर मेडिकल कॉलेज की यूनिट के लिए सरकार ने १४५ करोड़ रुपए का बजट मंजूर किया है। उम्मीद जताई जा रही है कि शासन बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज के इस प्रपोजल पर भी मंजूरी की मुहर लगा सकती है। सब कुछ ठीक रहा तो बीएमसी मेंकैंसर रोगियों की रेडियोथेरेपी लेजर मशीन से होगी। प्रपोजल में तीन मशीनों की मांग की गई है। इसमें लेजर मशीन भी शामिल है।

जिले में कैंसर रोगियों की संख्या लगातार बढ़ रही है। मौजूदा समय में हर महीने १२०० मरीज बीएमसी में उपचार कराने पहुंच रहे हैं। बीएमसी में कीमोथेरेपी तो होती है, लेकिन रेडियोथेरेपी के लिए मरीजों को जबलपुर, भोपाल व अन्य शहरों में जाना पड़ता है। एेसे में मरीजों के रहने और उपचार में काफी रुपए खर्च हो जाते हैं। आर्थिक रूप से कमजोर मरीजों के लिए यह उपचार कराना मुश्किल होता है।
बीएमसी में भी शुरू होगी यूनिट!
रेडियोथेरेपी यूनिट ड्रीम प्रोजेक्ट का हिस्सा है। यह यूनिट मैनपानी में प्रस्तावित है, लेकिन प्रबंधन इसे जल्द शुरू कराना चाह रहा है। यही वजह है कि प्रबंधन बीएमसी में ही इसे शुरू करा सकता है। जरूरत पडऩे पर परिसर में खाली पड़ी जगह पर इस यूनिट के लिए भवन भी तैयार कराया जा सकता है।
दो पद हैं स्वीकृत
बीएमसी में वर्तमान में दो अस्सिटेंट प्रोफेसर पदस्थ हैं, जो इस यूनिट का संचालन कर सकते हैं। इसमें एक कैंसर विभाग में है तो दूसरा रेडियोलॉजी में तैनात है।

ये हैं तीन मशीन
कोबाल्ट- सिकाई के लिए
ब्रेकी थेरेपी (लेजर)- सिर्फ कैंसर वाले हिस्से की सिकाई करेगा।
लीनियर एक्सलरेटर- एडवांस वर्जन है। इससे एक दिन में ५० से ज्यादा कैंसर रोगियों की सिकाई हो सकती है।

ये भी है प्रपोजल में
सीटी स्कै न मशीन, एमआरआई मशीन शासन को प्रपोजल बनाकर भेजा गया है। इस यूनिट के लिए हमारे पास दो असिस्टेंट प्रोफेसर हैं, मंजूरी मिलती है तो यह यूनिट बीएमसी में भी शुरू करा सकते हैं।
-डॉ. जीएस पटेल, डीन

Show More
आकाश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned